Piliya ke lakshan ( symptoms ), karan aur ilaj – पीलिया के 11 लक्षण, कारण और इलाज

पीलिया क्या है ?

क्या आपकी आंखों में पीलापन आ रहा है, क्या आपकी त्वचा का रंग भी पीला हो रहा है, क्या आपके नाखूनों का रंग भी पीला हो रहा है, दोस्तों अगर ऐसा है तो यह लक्षण जॉन्डिस के माने जाते हैं जिसे हिंदी में ‘ पीलिया ‘ की बीमारी भी कहा जाता है जैसा कि इसके नाम से ही पता चल जाता है इस बीमारी में पूरा शरीर पीला पड़ने लग जाता है आपकी आंखों का रंग पीला हो जाता है आपके मूत्र का रंग भी पीला होता है । आज हम जानेंगे पीलिया के लक्षण ( piliya ke lakshan ), कारण और इलाज ।

इस बीमारी में लिवर सबसे ज्यादा प्रभावित होता है । यह बीमारी खून में पित्त के रस की मात्रा की अधिकता की वजह से होता है । जब खून में बिलरुबिन नामक रस की मात्रा ज्यादा बढ़ जाती है तो यह खून में मौजूद रेड ब्लड सेल्स को खत्म करने लगता है जिसके कारण शरीर पीला पड़ने लग जाता है और खून की कमी होने लगती है । आज healthkenuskhe के इस लेख में हम पीलिया से संबंधित वह हर जानकारी आपको देंगे जिसके बारे में आपको पता होना चाहिए ।

piliya ke lakshan

पीलिया के लक्षण ( piliya ke lakshan ) – jaundice symptoms in hindi

  • त्वचा में पीलापन
  • आंखों में पीलापन
  • नाखून में पीलापन
  • मुँह के अंदर पीलापन
  • जीभ का पीलापन
  • मूत्र में पीलापन
  • भूख न लगना
  • उल्टी आना
  • सर दर्द
  • बेजोड़ कब्ज़
  • एसिडिटी

पीलिया के कारण

पीलिया के कारण – causes of jaundice in hindi

1) दवाई का साइड इफ़ेक्ट – कई बार ज्यादा एंटीबैक्टीरियल दवाओं या फिर अन्य अंग्रेजी दवाओं के कारण साइड इफेक्ट हो जाता है और यह साइड इफेक्ट पीलिया के रूप में भी सामने आ सकती है ।

2) रक्त दोष – कई बार रक्त में दोष होने के कारण यानी कि रक्त से संबंधित कोई बीमारी होने के कारण भी पीलिया जैसी समस्या उत्पन्न हो सकती है ( पीलिया के कारण )

3) लिवर की बीमारियाँ – लीवर की बीमारियां जैसे कि हेपेटाइटिस की वजह से भी जॉन्डिस यानी कि पीलिया की बीमारी हो सकती है ।

4) लिवर में गड़बड़ी – कई बार खराब खान-पान और खराब दिनचर्या की वजह से भी लिवर हानिकारक टॉक्सिक तत्वों से भर जाता है जिसके कारण लिवर के कार्यशैली में गड़बड़ी आने की वजह से पीलिया हो सकता है ।

5) इन्फ़ेक्शन – लिवर में इन्फेक्शन होने के कारण भी वह ज्यादा मात्रा में बाइल जूस बनाने लग जाता है जिसके कारण भी जौंडिस हो सकती है ( पीलिया के कारण )

6) गलत खान-पान – गलत खान-पान की आदतें ज्यादा तली-भुनी चीजें या ज्यादा मसालेदार खाना खाने की वजह से भी रक्त में दोष उत्पन्न हो जाते हैं जिसके कारण भी पीलिया जैसी समस्या हो सकती है ।

7) अनुवांशिकता (फैमिली हिस्ट्री) – अगर आपकी फैमिली हिस्ट्री जॉन्डिस की रही है तो यह पूरी संभावना है कि आपको भी आगे चलकर जॉन्डिस की समस्या हो सकती है ।

पीलिया का इलाज

पीलिया का इलाज – jaundice treatment in hindi

त्रिफला

त्रिफला पीलिया का एक बेहतरीन इलाज माना जाता है ( पीलिया का इलाज ) । त्रिफला में कुछ ऐसे तत्व होते हैं जो आपके पाचनतंत्र को बिल्कुल दुरुस्त कर देता है और आपके लीवर के सारे टॉक्सिन को खींचकर बाहर निकाल देता है जिसके कारण आपका लीवर का दोष भी ठीक होने लगता है और आपका पूरा पाचन तंत्र सही अवस्था में काम करने लगता है तो आइए जानते हैं त्रिफला का इस्तेमाल कैसे करना है ।

त्रिफला का इस्तेमाल कैसे करें

  • सबसे पहले आप 1 चम्मच त्रिफला पाउडर ले, त्रिफला चूर्ण आपको आसानी से पंसारी की दुकान पर मिल जाएगा ।
  • रात में सोने से पहले 1 गिलास पानी में 1 चम्मच त्रिफला पाउडर डाल दें और रात भर छोड़ दें ।
  • सुबह उठकर उस त्रिफला को छान लें और उस पानी को खाली पेट पी जाएं और 2 घंटे तक किसी अन्य चीज़ का सेवन न करें ।
  • ऐसा कम से कम 2 सप्ताह जरूर करें तभी आपको पूरा फायदा मिलेगा ।

टमाटर

बहुत से लोगों को यह बात पता ही नहीं होती कि टमाटर से भी पीलिया को ठीक किया जा सकता है ( पीलिया का इलाज ) । टमाटर में विटामिन-C की प्रचुर मात्रा होती है जिसके कारण यह शरीर के टॉक्सिंस को बाहर निकालने में मदद करता है और पीलिया को आपके शरीर से भगाने में आपकी सहायता कर सकता है तो आइए जानते हैं टमाटर का इस्तेमाल करके कैसे पीलिया को आप भगा सकते हैं ।

टमाटर का इस्तेमाल कैसे करें

  • 3 टमाटर ले और उसे अच्छी तरह काट ले और मिक्सर में पीस दे।
  • पिसे हुए टमाटर को साफ एक कपड़े की मदद से छान लें और उसका सारा रस बाहर एक गिलास में निकाल लें ।
  • अब सुबह खाली पेट में उस टमाटर के रस का सेवन करें और 2 घंटे तक किसी अन्य चीज का सेवन बिल्कुल ना करें।
  • इसका सेवन आपको कम से कम 2 सप्ताह तक करना है आपका पीलिया ठीक हो जाएगा।

धनिया

धनिया जिसे अंग्रेजी में कोरिएंडर भी कहा जाता है । धनिए में भी बहुत ही औषधीय गुण होते हैं जो कई बीमारियों को भगाने के लए पर्याप्त होता है ( पीलिया का इलाज ) । कई आयुर्वेदिक दवाओं में भी धनिए के बीच का इस्तेमाल होता है । यदि आप धनिया का पानी 2 सप्ताह तक लगातार पिए तो भी पीलिया को जड़ से खत्म किया जा सकता है तो आइए जानते हैं धनिए का उपयोग कैसे करना है ।

धनिए का इस्तेमाल कैसे करें

  • सबसे पहले 1 चम्मच धनिए के बीज ले और एक ग्लास पानी में डाल दें और रात भर के लिए छोड़ दें ।
  • सुबह उठकर उस पानी को एक कपड़े की मदद से अच्छी तरह छान लें और उस पानी को पी जाएं ।
  • इस पानी को आपको सुबह पीना है और ध्यान रखना है कि आपका पेट खाली हो और इसे पीने के बाद आप 2 घंटे तक कुछ भी नहीं खाएंगे ।
  • यदि आप सिर्फ 2 सप्ताह भी धनिया का पानी पी लेते हैं तो आपका पीलिया जड़ से खत्म हो जाएगा ।

नीम

नीम हमेशा से ही हजारों बीमारियों को भगाने का एक रामबाण इलाज रहा है और हर प्रकार के बैक्टीरियल, वायरल और फंगल इंफेक्शन में नीम का इस्तेमाल अवश्य होता है । नीम के औषधीय गुण खून को साफ करते हैं और शरीर में मौजूद टॉक्सिंस को बाहर निकालने में मदद करते हैं ( पीलिया का इलाज ) । नीम का इस्तेमाल करके आप पीलिया जैसी बीमारी को आसानी से खत्म कर सकते हैं ।

नीम का इस्तेमाल कैसे करें

  • नीम का रस बनाकर आप पी सकते हैं |
  • नीम का रस हमेशा सुबह खली पेट में ही पीयें तभी आपको इसका पूरा फायदा मिलेगा

सिट्रस फ्रूट्स

सिट्रस फ्रूट्स जैसे कि संतरा, नींबू, मौसंबी, आंवला इनमें विटामिन-C की समृद्ध मात्रा होती है जिसके कारण यह शरीर के विषैले तत्वों को बाहर निकालता है । पाचनतंत्र को दुरुस्त करता है साथ ही लिवर को भी ठीक करने में मदद करता है ( पीलिया का इलाज ) । यदि आप जॉन्डिस के दौरान सिट्रस फ्रूट्स का सेवन करते हैं तो यह पीलिया को भी मात दे सकता है ।

सिट्रस फ्रूट्स का इस्तेमाल कैसे करें

  • आप चाहे तो सिट्रस फ्रूट्स को चबा-चबाकर खा ले या इसका जूस निकालकर पीले यह दोनों ही अवस्था में आपको फायदा पहुंचाएंगे ।
  • यदि आप सिट्रस फ्रूट्स का सेवन सुबह खाली पेट में करते हैं तो आपको फायदा जल्दी होगा ।

गन्ने का जूस

गन्ने का जूस जो आसानी से किसी भी टपरी पर आपको मिल जाएगा । आज के समय में गन्ने के जूस को बड़े ही चाव से पिया जाता है। यह स्वादिष्ट तो होता ही है साथ ही इसमें कई औषधीय गुण भी होते हैं ( पीलिया का इलाज ) । इसमें मौजूद विटामिन-C और इसके जरूरी तत्व पीलिया जैसी बड़ी बीमारी को भी कुछ ही हफ्तों में खत्म कर सकते हैं ।

गन्ने का इस्तेमाल कैसे करें

  • अगर आपके पास गन्ना है तो आप इससे चूस कर भी इसका रस पी सकते हैं ।
  • मार्केट में जाकर भी आप गन्ने का रस पी सकते हैं पर ध्यान रहे की इसकी क्वालिटी अच्छी हो और इस गन्ने के रस में गंदगी ना हो ।

जौ का पानी

जाओ का पानी सदियों से पीलिया को ठीक करने में किया जाता आ रहा है । आज भी कई गांवों में इसी नुस्खे का इस्तेमाल किया जाता है ( piliya treatment in hindi ) । यदि कोई व्यक्ति सिर्फ 2 सप्ताह भी जौ का पानी पी ले तो उसकी पीलिया की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाती है तो आइए जानते हैं कि जौ का पानी कैसे बनाना है ।

जौ का पानी कैसे बनाएं

  • सबसे पहले 2 चम्मच जौ को 1 एक गिलास पानी में डाल दें और उसे रात भर के लिए छोड़ दें ।
  • अब सुबह उठकर जौ को उस पानी से छान लें और उस पानी को सुबह खाली पेट में पी जाएं ।
  • अब 2 सप्ताह तक कम से कम जौ का पानी रोज पीना शुरू करें इसके प्रभाव से पीलिया खत्म हो जाएगा ।

पपीता

पपीता विटामिंस और मिनरल्स का खजाना माना जाता है । पपीता में दुनिया के जितने ज्यादा विटामिन पाए जाते हैं वह दुनिया के किसी अन्य फलों में नहीं पाया जाता । पीलिया में पपीता खाने की सलाह डॉक्टर भी देते हैं ( piliya treatment in hindi ) । यदि आप 3 हफ्ते रोज़ पपीता का सेवन करेंगे तो यह आपके पीलिया को आसानी से ठीक कर देगा आइए जानते हैं पपीता का इस्तेमाल कैसे करना है ।

पपीते का इस्तेमाल कैसे करें

  • आप चाहे तो पपीता को छोटे-छोटे पीस में काट के खा सकते हैं हालांकि यह पपीता पका हुआ होना चाहिए ।
  • आप चाहे तो पपीता का रस निकालकर भी पी सकते हैं इसके लिए आपको जूसर मिक्सर की जरूरत पड़ेगी।
  • जूसर मिक्सर में अच्छी तरह से पपीता को पीस लें और एक कपड़े की मदद से रस निकाल लें । आपका पपीते का रस तैयार है ।
  • पपीते का इस्तेमाल कम से कम 2 हफ्ते तक जरूर करें तभी आपको इसका फायदा पीलिया में मिलेगा ।

हल्दी

हल्दी में कई औषधीय गुण होते हैं जो आपको कैंसर, अल्जाइमर और पीलिया जैसी बीमारी से बचे रहने में या उसे ठीक करने में आपकी मदद कर सकता है । हल्दी का इस्तेमाल भारत में हजारों वर्षों से किया जाता रहा है जिसके कारण आज भारतीय लोगों की प्रतिरोधक क्षमता इतनी ज्यादा मजबूत है ( piliya treatment in hindi ) । आइए जानते हैं कि कैसे हल्दी का इस्तेमाल करके आप पीलिया को ठीक कर सकते हैं ।

हल्दी का इस्तेमाल कैसे करें

  • रात में सोने से पहले एक गिलास दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाएं और उसे पी जाएं ।
  • इस विधि को कम से कम 2 सप्ताह तक जरूर करें हल्दी के प्रभाव से पीलिया ठीक हो जाएगी।

बकरी का दूध

कई बार नए जन्मे शिशु को पीलिया की समस्या हो जाती है और दिन प्रतिदिन यह केस काफी बढ़ते चले जा रहे हैं । पीलिया के कारण कई बच्चों की मृत्यु भी हो जाती है ऐसे में उन बच्चों को ऊपर बताए गए नुस्खे का इस्तेमाल करना काफी मुश्किल हो जाता है ऐसे में बकरी का दूध भी पीलिया को जड़ से खत्म कर सकता है ( piliya treatment in hindi ) । बकरी के दूध में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो पीलिया को ठीक करने में कारगर हो सकते हैं ।

बकरी के दूध का इस्तेमाल कैसे करें

  • बकरी के दूध को अच्छी तरह गर्म करें और एक उबाल आने दे ।
  • अब उस बकरी के दूध को एक डब्बे में निप्पल लगाकर उस बच्चे को पिलाने की कोशिश करें ।
  • सिर्फ 2 सप्ताह अगर आपने उस बच्चे को बकरी का दूध पिला दिया तो उसके पीलिया की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी ।

दही

दही भी पीलिया को ठीक करने के लिए बहुत ही कारगर मानी जाती है ( piliya treatment in hindi ) । कई आयुर्वेदिक नुस्खों में भी दही का इस्तेमाल पीलिया को ठीक करने के लिए किया जाता है चलिए जानते हैं इसके लिए दही का इस्तेमाल कैसे करना है ।

दही का इस्तेमाल कैसे करें

  • एक कटोरा दही लें और उसमें 1/2 चम्मच काली मिर्च मिला दे ।
  • अब इस दही को सुबह खाली पेट में खाएं और 2 घंटे तक किसी अन्य चीज का सेवन बिलकुल न करें ।
  • यदि 2 सप्ताह भी आप इस उपाय को करने में कामयाब हो जाते हैं तो आपके पीलिया की समस्या ठीक हो जाएगी ।

तुलसी

तुलसी में कितने औषधीय गुण है यह विज्ञान भी साबित कर चुका है । कई बड़ी बीमारियों से लेकर छोटी-मोटी बीमारियों में इसका इस्तेमाल होता आया है और पीलिया में भी तुलसी फ़ायदेमंद होता है तो आइए जानते हैं कि कैसे तुलसी का इस्तेमाल करके भी आप पीलिया जैसी बीमारी को ठीक कर सकते हैं ( piliya treatment in hindi )

तुलसी का इस्तेमाल कैसे करें

  • सबसे पहले तुलसी के दस पत्ती तोड़ ले और उसे अच्छी तरह धो लें
  • अब तुलसी इन पत्तों को अच्छी तरह से पीस लें और एक ग्लास पानी में उस तुलसी के पेस्ट को मिक्स कर दें ।
  • सुबह खाली पेट में इस पानी को पी जाएं और 2 घंटे तक किसी अन्य चीज का सेवन बिल्कुल ना करें ।
  • अगर आप सिर्फ 2 सप्ताह तक तुलसी का सेवन इस प्रकार से करेंगे तो आपके शरीर से पीलिया खत्म हो जाएगी ।

पीलिया से जुड़ी कुछ ज़रूरी बातें

1) एक रिसर्च में यह बात सामने आई कि ज्यादातर बूढ़े लोग और नवजात शिशु में ही पीलिया की शिकायत होती है ।

2) शराब से दूर रहे क्योंकि पीलिया जैसी बीमारी के लिए शराब भी जिम्मेदार होता है ।

3) बाहर का जंक फूड काफी ताला और मसालेदार होता है जिसके कारण आपके लीवर को नुकसान पहुंचता है इसलिए हमेशा घर का खाना ही खाने की कोशिश करें ।

4) रोज़ कम से कम 3 लीटर पानी पीने की कोशिश करें क्योंकि शरीर में पानी की कमी की वजह से भी लिवर में दोष आ सकते है ।

Leave a Comment

close