Neem ke patte ke fayde in hindi, नीम के पत्ते के 15 फायदे

Neem ke patte ke fayde in hindi – नीम के पत्ते ना सिर्फ़ आपको शारीरिक रूप से फायदा पहुंचाते हैं बल्कि दिमागी रूप से भी आप को मजबूत एवं शांत रहने में मदद करते हैं नीम के पत्ते एंटी बैक्टीरियल एंटी वायरल और एंटी संगल तत्वों से समृद्ध होता है जिसके कारण यह अनगिनत बीमारियों को ठीक करने में एवं रोकने में सहायक होता है गर्मियों के दिनों में नीम की पत्तियों का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है क्योंकि यह शरीर व त्वचा को ठंडक प्रदान करता है |

neem ke patte ke fayde in hindi

जब ब्रश और पेस्ट नहीं हुआ करते थे तब दांत और मुंह की सफाई करने के लिए नीम के पत्तों एवं टहनियों का इस्तेमाल किया जाता था और आज भी कई गांव में लोग नीम के दातुन से अपने दांतो की सफाई करते हैं और उनके दांत स्वस्थ एवं साफ रहते हैं आप चाहे तो अपने  मुंह की देखभाल रोज सुबह उठकर नीम की चार पत्तियों को चबाकर भी कर सकते हैं |

यही नहीं नीम कई गंभीर रोगों से आप को बचाता है जिसके बारे में आज हम इस लेख में बताएंगे आज हम आपको बताएंगे नीम के पत्तों के 15 बड़े फायदे ( neem ke patte ke fayde in hindi ) जिसे जानने के बाद आप भी नीम के पत्ते खाने शुरू कर देंगे |

neem ke patte ke fayde in hindi

नीम के पत्ते के 15 फायदे – neem ke patte ke fayde in hindi

1) खून को करे साफ़ – नीम में एंटीबैक्टीरियल तत्व होते हैं एवं यह खून को साफ करने में सहायक होता है सदियों से खून को साफ करने के लिए नीम का इस्तेमाल होता आया है अगर आप अपने खून को साफ करना चाहते हैं तो आप सुबह खाली पेट में नीम की पत्तियों का रस पी सकते हैं सिर्फ 7 दिन ऐसा करने से आपका खून साफ हो जाता है |

2) कील मुहासे करे दूर – जब आपके खून में दोष होता है और विषैले तत्व मौजूद होते हैं तो यह कील मुहासे के रूप में आपकी त्वचा पर दिखाई पड़ते हैं पर जब आप नीम के पत्तों का सेवन करना शुरू करते हैं तो यह आपके खून को साफ कर देता है जिसके कारण आपकी त्वचा एवं चेहरे पर मौजूद कील मुंहासे धीरे-धीरे ठीक होने लग जाते हैं |

3) त्वचा की चमक बढ़ाए – नीम के पत्तों के सेवन से सिर्फ कील मुंहासे ही साफ नहीं होते बल्कि यह त्वचा को एक चमक भी प्रदान करते हैं 1 महीने तक नीम के पत्ते का रस पीने से आपकी त्वचा खिल उठती है और दाग धब्बे एवं डार्क सर्कल्स भी पूरी तरह से गायब हो जाते हैं | ये भी पढ़ें – Face fairness tips in hindi |

4) संक्रमण (Infection) से बचाए – आज के समय में संक्रमण बहुत तेजी से फैलता है और यह संक्रमण आपको कई बीमारियां दे सकता है जिसे रोकने के लिए आप नीम के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं यदि आप रोज 5 दिन के पत्ते जब आए सुबह खाली पेट में तो आप कई संक्रमण से बच सकते हैं |

5) कैंसर – एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि नीम शरीर में बढ़ते हुए कैंसर सेल्स को नष्ट करता है ( neem ke patte ke fayde in hindi ) | आयुर्वेद में भी रोज नीम के पत्तों का सेवन करने की सलाह दी गई है ताकि शरीर कैंसर जैसे खतरनाक रूप से दूर रह सके एक आयुर्वेद पद्धति में यह बात बताई गई थी कि जो व्यक्ति रूस हल्दी एवं नीम का सेवन किसी भी रूप में करता है उसे जीवन में कभी भी कैंसर नहीं होता बाजार में नीम एवं हल्दी की टेबलेट भी मिलती है |

आप चाहे तो उसका भी सेवन कर सकते हैं पर ध्यान रखें कि किसी अच्छी कंपनी का टेबलेट ही खरीदें जिस की गुणवत्ता अच्छी हो और उसके कोई साइड इफेक्ट ना हो आप चाहे तो इस लिंक पर क्लिक करके हल्दी एवं नीम की गोलियां खरीद सकते हैं यह टैबलेट्स उच्च क्वालिटी के है एवं इसके कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है आप इन गोलियों को रोज सुबह खाली पेट में पीके गोली ले सकते हैं | ये है कैंसर के लक्षण |

6) पाचनतंत्र को करे ठीक – नीम के पत्ते आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाते हैं नीम में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं जो पाचन तंत्र के नुकसानदायक कीटाणुओं को नष्ट कर देते हैं और गैस एवं कब्ज को दूर रखने में भी सहायता करते हैं | पढ़ें – Gas ka ilaj |

7) एंटीबायोटिक गुण – नीम को प्राकृतिक एंटीबायोटिक माना जाता है और जहां पर भी नीम होता है वहां से बैक्टीरिया या तो भाग जाते हैं या उनका खात्मा हो जाता है इसीलिए आयुर्वेद में बुखार मैं नीम के पत्तों से इलाज का नियम है अगर आपको किसी प्रकार का बैक्टीरियल इंफेक्शन है तो आप नीम का काढ़ा बनाकर पी है वह इंफेक्शन कुछ ही दिनों में खत्म हो जाएगा |

8) शरीर को करे डिटॉक्स – नीम शरीर को डिटॉक्स करने में भी सहायता करता है ( neem ke patte ke fayde in hindi ) | ज्यादा तली भुनी चीजें खाने के कारण शरीर में टॉक्सिंस जमा हो जाते हैं और ज्यादा कसरत एवं शारीरिक श्रम न करने के कारण व टॉक्सिंस पसीने के साथ बाहर नहीं निकल पाते पर यदि आप नीम के पत्तों का सेवन किसी रूप में करते हैं तो यह शरीर के उन टॉक्सिंस को आप के मूत्र के द्वारा बाहर निकाल देता है और आपके शरीर को अंदर से भी साफ कर देता है |

9) डायबिटीज – डायबिटीज जिसे विज्ञान अभी तक एक लाइलाज बीमारी मानता है इसलिए डायबिटीज के मरीज या तो इंसुलिन के इंजेक्शन लेते हैं या तो डायबिटीज की गोलियां खाते हैं पर इन दवाइयों से उनका डायबिटीज सिर्फ कंट्रोल में रहता है ठीक नहीं होता पर आयुर्वेद में नीम के पत्तों से डायबिटीज को ठीक करने का एक फार्मूला बताया गया है ( neem ke patte ke fayde in hindi ) |

यदि कोई व्यक्ति 3 महीने तक रोज सुबह खाली पेट में एक कप नीम के पत्तों का रस पीता है तो उसका डायबिटीज धीरे-धीरे करके खत्म हो जाता है और उसका पैंक्रियास फिर से इंसुलिन बनाना शुरु कर देता है |

10) पेट के गैस को करे ठीक – अगर आपके पेट में गैस बनती है तो नीम के पत्तों से उसे भी ठीक किया जा सकता है आपको बस करना यह है कि आप नीम की पत्तियों को छांव में सुखा लें और उसे अच्छी तरह पीसकर उसका चूर्ण बना लें रात में खाना खाने के 1 घंटे बाद एक चम्मच नीम का चूर्ण एक गिलास गुनगुने पानी के साथ पीले आप देखेंगे कि धीरे-धीरे आपके पेट के गैस की समस्या ठीक हो जाएगी |

11) मलेरिया का इलाज – मलेरिया एक जानलेवा बीमारी है जो मच्छरों से फैलती है पर आयुर्वेद में मलेरिया को नीम के पत्तों से ठीक किया जा सकता है मलेरिया को ठीक करने के लिए आप मरीज को रोज सुबह और शाम में नीम का काढ़ा बनाकर पिलाएं सिर्फ 3 दिनों में मलेरिया जड़ से खत्म हो जाएगा |

12) अस्थमा – विज्ञान के पास अस्थमा को जड़ से खत्म करने का कोई इलाज नहीं है और इसलिए जब तक एक अस्थमा का मरीज जीवित है उसे ब्रोंकोडाइलेटर्स लेने पड़ेंगे पर यदि आप आयुर्वेद में विश्वास करते हैं तो नीम के सेवन से आप कुछ सालों में अस्थमा जैसी बड़ी बीमारी को जड़ से खत्म कर सकते हैं ( neem ke patte ke fayde in hindi ) |

अस्थमा को ठीक करने के लिए आपको बस रोज सुबह खाली पेट में एक कप नीम के पत्ते का रस पीना है इसमें पाया जाने वाला एंटीबैक्टीरियल तत्व धीरे-धीरे करके आपके फेफड़ों के सारे बलगम को निकाल बाहर करता है और आपके फेफड़े को फिर से स्वस्थ बना देता है एक रिसर्च में यह बात सामने आई कि नीम के पत्ते से 10 साल पुराना अस्थमा भी ठीक किया जा सकता है |

13) आखों के लिए फ़ायदेमंद – नीम आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है यदि आपके आंखों में लालिमा आ गई है या फिर किसी प्रकार का इंफेक्शन हो गया है तो आप बस कुछ नींद के पत्ते पानी में उबाल लें और उस पानी को छान लें और पानी को ठंडा करने के बाद उस पानी से अपनी आंखों को धोएं दो से 3 दिन ऐसा करने से आपकी आंखों का इन्फेक्शन पूरी तरह से खत्म हो जाएगा और आपकी आंखों की रोशनी भी इस से बढ़ेगी | पढ़ें – Home remedies for eyesight improvement |

14) जोड़ों के दर्द में फ़ायदेमंद – जोड़ों के दर्द में भी नीम के पत्ते बहुत ही फायदेमंद माने जाते हैं इसके लिए आप चाहे तो नीम के पत्तों को पीसकर अपने जोड़ों के दर्द पर लगा सकते हैं इससे भी आराम मिलता है या फिर आप रोज सुबह में नीम के पत्तों का रस पी सकते हैं इससे जोड़ों के दर्द एवं गठिया में काफी आराम मिलता है |

15) इम्युनिटी बढ़ाए – इम्यूनिटी जिसे हिंदी में प्रतिरोधक क्षमता कहा जाता है जिस शरीर की प्रतिरोधक क्षमता जितनी ज्यादा होती है वह शरीर उतना कम बीमार पड़ता है और नीम के पत्तों को खाने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह आपकी इम्यूनिटी को बहुत ज्यादा बढ़ा देता है जिसके कारण छोटी मोटी बीमारी आपको होंगी नहीं और बड़ी बीमारियां आपको कभी नहीं होंगी ( neem ke patte ke fayde in hindi ) |

neem ke patte ke fayde in hindi

नीम का काढ़ा बनाने का तरीका

नीम का काढ़ा बनाने के लिए आप नीम के 20-25 पत्ते एक गिलास पानी में अच्छी तरह उबाल लें जब वह पति अच्छी तरह उबाल जाए तो उस पानी को तब तक उबालें जब तक पानी आधा गिलास ना हो जाए अब उसमें आधा चम्मच काली मिर्च और आधा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं और आप का काढ़ा तैयार है |

1 thought on “Neem ke patte ke fayde in hindi, नीम के पत्ते के 15 फायदे”

  1. नीम अमृत तुल्य हैं, यह बहुत सारी बीमारियों के लिए रामबाण हैं, यह पोस्ट बहुत से लोगो को लाभान्वित करेगा, ऐसे ही पोस्ट करते रहिए

    Reply

Leave a Comment

close