Methi ke fayde, upyog aur nuksan – मेथी के फायदे, उपयोग और नुकसान

Methi का इस्तेमाल भारत की हर रसोई में सदियों से होता आया है । एक तरफ मेथी भोजन के स्वाद को बढ़ाती है तो दूसरी तरफ आयुर्वेद के नजरिए से अगर देखें तो ये शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी होती है और कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं को ठीक करती है । आज Healthkenuskhe के इस लेख में आप जानेंगे कि मेथी क्या है, इसमें कौन-कौन से तत्व पाए जाते हैं, methi ke fayde, methi ka upyog कैसे करें और methi ke nuksan इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि अधूरी जानकारी सेहत के लिए खतरनाक हो सकती है ।

what is fenugreek seeds in hindi

मेथी क्या है – What is fenugreek seeds in hindi ?

भारत में मेथी को एक मसाले के तौर पर इस्तेमाल किया जाता आया है । मेथी एक प्रकार की खाद्य सामग्री है जिसका उपयोग भोजन को और भी स्वादिष्ट बनाने के लिए किया जाता है । इसके पत्ते साग एवं सब्जी के रूप में खाए जाते है । मेथी के फायदे बहुत कम ही लोग जानते है पर ये शरीर के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद है ।

वहीं इसके भूरे रंग के दाने सब्जियों में डालकर बड़े ही चाव से खाए जाते हैं पर जो लोग मेथी के औषधीय गुणों के बारे में जानते हैं वह इसका उपयोग ना सिर्फ खाने में बल्कि अपनी शारीरिक परेशानियों को ठीक करने में भी करते हैं तो आइए जानते हैं कि आखिर मेथी में कौन कौन से औषधीय तत्व होते है । उसके बाद हम जानेंगे methi ke fayde ।

मेथी में पाए जाने वाले तत्व

पोषक तत्व मूल्य प्रति 100 ग्राम
पानी 8.84 g
ऊर्जा 323 g
प्रोटीन 23 g
टोटल लिपिड (फैट) 6.41 g
कार्बोहाइड्रेट 58.35 g
फाइबर 24.6 g
कैल्शियम, Ca 176 mg
आयरन, Fe 33.53 mg
मैग्नीशियम, Mg 191 mg
फास्फोरस, P 296 mg
पोटैशियम, K 770 mg
सोडियम, Na 67 mg
जिंक, Zn 2.5 mg
मैंगनीज, Mn 1.228 mg
सेलेनियम, Se 6.3 µg
विटामिन सी 3 mg
थायमिन 0.322 mg
राइबोफ्लेविन 0.366 mg
नियासिन 1.64 mg
विटामिन बी-6 0.6 mg
फोलेट 57 µg
विटामिन ए, RAE 3 µg
विटामिन ए, IU 60 IU
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड 1.46 g

मेथी के फायदे

मेथी के फायदे – methi ke fayde

1) सर्दी-जुकाम – सर्दी-जुकाम की समस्या हर घर में होती है और अगर आपके घर में मेथी है तो आपको सर्दी-जुकाम से डरने की आवश्यकता नहीं है । मेथी की तासीर गर्म होती है और यदि आप सही तरीके से इसका 2 से 3 दिन तक सेवन करते हैं तो आपका सर्दी-जुकाम छूमंतर हो जाएगा । इसका इस्तेमाल करने के लिए आप 1 चम्मच मेथी के दाने को धीमी आंच पर भून लें और उसे एक गिलास दूध के साथ चबा चबा कर खा जाए । मेथी का उपयोग करने से 1 से 2 दिन में आपके सर्दी जुखाम की समस्या ठीक हो जाएगी ।

2) बुखार – बुखार को कम करने में भी मेथी काफी फायदेमंद मानी जाती है । मेथी में ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो बुखार की स्थिति में शरीर के तापमान को कम करने में मदद करते है । यानी कि अगर आप को बुखार है तो आप मेथी का इस्तेमाल बुखार को कम करने में कर सकते हैं । इसके लिए आप मेथी शहद और नींबू के रस के घोल का सेवन करें । 1 से 2 दिनों में आपका बुखार कम हो जाएगा हालांकि डॉक्टर के द्वारा दी गई दवाइयों का सेवन ना त्यागें ।

3) Cholestrol – आज के समय में कोलेस्ट्रॉल कई बड़ी बीमारियों का कारण बनती है इसलिए आपको अपने कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कभी बढ़ने नहीं देना चाहिए । अगर आप नियमित रूप से मेथी का सेवन करते हैं तो इसमें मौजूद Flavonoids और anti-oxidants आपके कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखने में मदद करते हैं । एक स्टडी में यह बात सामने आ चुकी है कि मेथी का सेवन कोलेस्ट्रोल को नियंत्रण में रखता है इस अवस्था में आप मेथी के पानी को सुबह खाली पेट में पी सकते हैं इससे आपका कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में रहेगा ।

4) Diabetes – शोध में यह बात साबित हो चुकी है कि डायबिटीज में मेथी के दाने काफी फायदेमंद होते हैं खासकर टाइप-2 डायबिटीज के मरीजों को मेथी का सेवन अवश्य करना चाहिए । वैज्ञानिक शोध में इस बात की पुष्टि की गई है कि मेथी के बीज का सेवन करने से यह खून में शुगर लेवल को नियंत्रण में रखने में मदद करता है । Methi dana ke fayde पूरी दुनिया में बहुत कम ही लोग जानते है । शुगर लेवल को नियंत्रण में रखने के लिए आप अपने खाने में मेथी के दाने को शामिल कर सकते हैं या मेथी का पानी पी सकते हैं या मेथी के अंकुरित दानों को भी खा सकते हैं ।

ये भी पढ़ें – डायबिटीज के लक्षण और इलाज

5) वजन करे कम – अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो मेथी एक आसान उपाय है । वजन कम करने का दरअसल एक शोध में यह बात सामने आई है कि मेथी में पाए जाने वाले पॉलिफिनॉल्स शरीर के बढ़ते वजन और अतिरिक्त चर्बी को कम करने में मदद करता है साथ ही इसमें मौजूद फाइबर भोजन को पचाने में और पाचनतंत्र को मजबूत करता है जिसके कारण आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और अतिरिक्त चर्बी कम होने लगती है और ऐसा कह सकते हैं कि मेथी का सेवन करने से वजन कम होता है ।

ये भी पढ़ें – मोटापा बढ़ने के कारण और इसका इलाज

6) सूजन करे कम – NCBI की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार मेथी सूजन को कम करने में काफी फायदेमंद होती है । इस शोध में यह बात सामने आई है कि मेथी के अंदर लिनोलेनिक पाया जाता है । इसके अंदर petroleum के अर्क में anti-inflammatory गतिविधियां भी पाई जाती है जो सूजन को कम करने में मदद करती है इसलिए अगर आपको पैर में यह शरीर के किसी भी भाग में सूजन है तो आप उसे कम करने के लिए मेथी का सेवन कर सकते हैं ।

7) Acidity – मेथी को पित्तदोष नाशक भी कहा जाता है यानी कि पेट से जुड़ी कोई भी समस्या को मेथी ठीक कर देती है । कई बार बुरी खानपान की आदतों की वजह से एसिडिटी होना एक आम बात हो जाती है इसमें अगर आप मेथी का पानी पीते हैं तो यह एसिडिटी को तुरंत ठीक करने में मदद करती है ।

8) अर्थराइटिस – जैसे-जैसे उम्र बढ़ती चली जाती है हड्डियां कमजोर होती चली जाती हैं और जोड़ों में सूजन और दर्द भी बढ़ता चला जाता है और यह समस्या पूरी दुनिया में है और इसे अर्थराइटिस कहा जाता है । मेथी का दाना अर्थराइटिस के दर्द को कम करने में रामबाण माना जाता है ।

इसका प्रयोग अगर अर्थराइटिस के मरीज करें तो उनके दर्द में बहुत तेजी से कमी आती है और सूजन भी कम हो जाती है । मेथी के दानों में anti-inflammatory और anti-oxidant गुण मौजूद होते हैं साथ ही इसमें कैल्शियम, फास्फोरस और आयरन की भी प्रचुर मात्रा होती है जो हड्डियों को पोषण प्रदान करती है ।

9) Periods में फायदेमंद – कई बार पीरियड्स के दौरान महिलाओं को असहनीय पेट दर्द और कमर की ऐंठन से जूझना पड़ता है ऐसे में मेथी के दाने पीरियड्स में महिलाओं के लिए एक बहुत ही अच्छी सहेली की तरह काम कर सकती है । शोध के अनुसार मेथी के दानों में analgesic, anti-inflammatory, antispasmodic एवं Diuretic गुण पाए जाते हैं जो पीरियड्स के दर्द को कम करने में काफी हद तक मदद करते हैं । कई बार डॉक्टर भी महिलाओं को पीरियड्स के दौरान मेथी के सेवन की सलाह देते हैं ।

10) स्तन दूध में बढ़ोतरी – जो महिलाएं नई-नई माँ बनी है उन महिलाओं को मेथी के दाने का सेवन अवश्य करना चाहिए । मेथी के दाने में कुछ ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो स्तन में दूध की बढ़ोतरी करते हैं और दूध की गुणवत्ता को बढ़ाते हैं जिसके कारण बच्चे को अच्छी quality का दूध मिलता है और बच्चे के दिमाग और पूरे शरीर की ग्रोथ अच्छे से हो पाती है । जिन महिलाओं को स्तन में दूध की कमी होती है उन्हें मेथी का सेवन अवश्य कराना चाहिए ।

11) Kidney – कई वैज्ञानिक शोधों में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि मेथी किडनी के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही बेहतरीन होती है । मेथी में पॉलिफिनॉलिक फलावेनॉइड्स पाए जाते हैं जो किडनी की सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं । अगर आपको किडनी में पथरी है तो मेथी का सेवन आपकी किडनी की पथरी की समस्या को कम करने में आपकी मदद कर सकता है । जिन लोगों को भी किडनी से संबंधित समस्याएं हैं उन लोगों को रोज सुबह उठकर खाली पेट में मेथी का पानी अवश्य पीना चाहिए ।

12) Blood Pressure – अगर ब्लड प्रेशर नियंत्रण में ना हो तो यह हार्ट अटैक और पैरालिसिस जैसी बीमारियों को आमंत्रण दे सकती है । अगर आप हाई ब्लड प्रेशर के मरीज है तो आपको रोज मेथी का सेवन किसी ना किसी रूप में अवश्य करना चाहिए । अगर आप 15 दिनों तक मेथी के पानी का सेवन रोज करते हैं तो आपके ब्लड प्रेशर की समस्या ठीक हो जाती है ।

ये भी पढ़ें – हाई ब्लड प्रेशर का उपचार

13) Testosterone में बढ़ोतरी – जिन पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन की कमी हो जाती है उन पुरुषों के शरीर में हड्डियां पतली दुबली होती है और मांस भी कम होता है । ऐसे पुरुषों में बच्चा पैदा करने की क्षमता भी कम होती है । अगर कोई पुरुष अपने शरीर में टेस्टोस्टेरोन की मात्रा को प्राकृतिक रूप से बढ़ाना चाहता है तो उसे मेथी का सेवन अवश्य करना चाहिए । यदि आप 15 दिनों तक मेथी का सेवन करते हैं तो आपको कुछ ही दिनों में इसका फायदा नजर आने लगेगा ।

14) Skin के लिए – NCBI की एक रिपोर्ट के अनुसार मेथी में anti-oxidant, Anti Wrinkle और विटामिन-C जैसे जरूरी तत्व पाए जाते हैं जो त्वचा की सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं । अगर कोई महिला रोज किसी भी रूप में मेथी का सेवन करती है तो उसकी त्वचा लंबे समय तक जवान रहती है और रिंकल्स भी जल्दी नहीं आते । रोज मेथी का सेवन करने वालों की त्वचा काफी लचीली और खूबसूरत होती है ।

ये भी पढ़ें – झुर्रियों का कारण और इसका इलाज

15) बालों के लिए – एक शोध में यह बात सामने आई थी कि मेथी में काफी हाई quality का प्रोटीन पाया जाता है । अगर आप गंजेपन के शिकार हैं या आपके बाल पतले हो रहे हैं तो आपको मेथी का सेवन अवश्य करना चाहिए । मेथी में मौजूद प्रोटीन और लेसीथीन नामक तत्व बालों का झड़ना कम करता है और बालों की मोटाई को बढ़ाता है ।

methi ka upyog in hindi

मेथी का उपयोग – methi ka upyog in hindi

मेथी का उपयोग करना बहुत ही आसान है । भारत में इसे कई तरीकों से खाया जाता है तो आइए अब हम जानते हैं कि methi ka upyog आप कैसे कर सकते हैं और कैसे मेथी से आपको स्वाद भी मिलेगा और सेहत भी ।

1) मेथी के पराठे – मेथी के पराठे पूरे भारत में मशहूर हैं और इसकी सबसे खास बात यह है कि यह बेहद स्वादिष्ट और सेहतमंद होते हैं । इसे बनाने के लिए आप मेथी का पाउडर ले और आटे को सानते समय उसमें मिला दें और पराठा बनाएं यह पराठा खाने में सेहतमंद और स्वादिष्ट दोनों ही होते हैं ।

2) मेथी की सब्जी – मेथी की सब्जी बनाने के लिए आप सब्जी में मेथी के दाने डालकर इसका सेवन कर सकते हैं । इससे सब्जी का स्वाद भी बढ़ता है और उसकी पौष्टिकता भी बढ़ती है ।

3) अंकुरित मेथी – मेथी के दाने को आप रात में पानी में भिगोकर रख दें और दूसरे दिन इसे एक कपड़े में लपेटकर टांग दे तीसरे दिन यह मेथी के दाने अंकुर जाएंगे और आप फिर इसका सेवन स्प्राउट्स की तरह भी कर सकते हैं ।

4) मेथी के पानी – आप मेथी के दाने का पानी भी पी सकते हैं इसका उपयोग करने के लिए आप रात में 1 चमच मेथी के दानों को एक गिलास पानी में डालें और सुबह मेथी को छानकर खा जाए और इसका पानी पी लें, इसका पानी बहुत ही फायदेमंद होता है ।

5) हर्बल चाय – आप मेथी से बनी हर्बल चाय भी पी सकते हैं जो सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है और अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो आपको मेथी से बनी हर्बल चाय का सेवन अवश्य करना चाहिए ।

methi ke nuksan

मेथी के नुकसान – methi ke nuksan

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि मेथी एक बहुत ही गुणकारी तत्व है और यह एक मसाला कम और औषधि ज्यादा है इसलिए इसका उपयोग लोगों को अवश्य करना चाहिए पर इस बात में भी सच्चाई है कि अगर किसी भी चीज का जरूरत से ज्यादा उपयोग किया जाए तो उसके side effects भी होते हैं तो आइए जानते हैं कि मेथी का उपयोग कब आपको नुकसान पहुंचा सकता है ।

1) दस्त – हमने ऊपर लेख में बताया है कि मेथी हमारे पेट के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है । इस बात में कोई दोराय नहीं है पर अगर आप मेथी का जरूरत से ज्यादा सेवन करते हैं तो आपको दस्त, अपच या पेट में गैस जैसी समस्याएं हो सकती हैं ।

2) गर्भवती महिलाओं के लिए – गर्भवती महिलाओं के लिए मेथी दाना बहुत ही फायदेमंद होता है पर अगर गर्भवती महिलाएं जरूरत से ज्यादा मेथी के दाने का सेवन करती है तो उनके बच्चे को नुकसान हो सकता है क्योंकि मेथी की तासीर गर्म होती है ।

3) कील मुंहासे – जिन लोगों को कील-मुहांसों की ज्यादा problem होती है उन लोगों को मेथी का सेवन कम ही करना चाहिए क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है और ज्यादा मेथी के सेवन से उनके कील मुहांसों में वृद्धि भी हो सकती है ।

ये भी पढ़ें – पिंपल्स को दूर करने के तरीके

4) एलर्जी – कई लोगों को मेथी से एलर्जी होती है इस वजह से भी उन लोगों को मेथी का सेवन नहीं करना चाहिए जिन्हें मेथी से एलर्जी है ।

5) छोटे बच्चों के लिए नुकसानदायक – 5 साल से छोटे बच्चों को मेथी का सेवन नहीं करना चाहिए वरना इससे उनका पेट खराब हो सकता है ।

1 दिन में कितनी मेथी का सेवन करना चाहिए ?

विज्ञान के अनुसार 1 दिन में 25 ग्राम से लेकर 50 ग्राम तक के बीच ही methi ke dane का सेवन किया जाना चाहिए इससे ज्यादा सेवन करना हानिकारक हो सकता है और ऊपर बताए गए side effects भी हो सकते हैं ।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको मेथी से संबंधित पूरी जानकारी मिल गई होगी । अगर अभी भी आपका कोई सवाल है तो comment box में पूछे, हमारी टीम आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेगी ऐसे ही स्वास्थ्य से संबंधित जरूरी जानकारियां रोज पढ़ने के लिए हमारे website healthkenuskhe.com को Subscribe कर ले आपका दिन शुभ हो, धन्यवाद ।

2 thoughts on “Methi ke fayde, upyog aur nuksan – मेथी के फायदे, उपयोग और नुकसान”

Leave a Comment

close