हर्निया के 5 लक्षण, कारण और इलाज ( hernia ka ilaj ) – hernia symptoms, causes and treatment in hindi

पेट हमारे शरीर का एक बहुत ही अभिन्न अंग है । एक ऐसा अंग है जिसमें यदि कोई समस्या आ जाए तो इसका असर पूरे शरीर पर पड़ता है इसीलिए कहा जाता है कि यदि आपका पाचनतंत्र और पेट सही है तो आपका शरीर भी सही रहेगा ।

आज healthkenuskhe के इस लेख में हम बात करेंगे पेट से संबंधित ऐसी ही एक बीमारी हर्निया के बारे में आज हम आपको बताएंगे कि हर्निया क्या होता है, हर्निया के लक्षण क्या है, इसके कारण क्या है और हर्निया का इलाज ( hernia ka ilaj ) क्या है ।

हर्निया क्या है – what is hernia in hindi ?

हर्निया ( Hernia ) एक चिकित्सक शब्द है और हर्निया की समस्या पेट के आसपास या आंतों में होती है । दरअसल जब आंतों कि कोई कोशिका अपनी झिल्ली से बाहर आ जाती है और दर्द और पीड़ा पैदा करने लगती है तो उसे ही हर्निया कहा जाता है ।

हर्निया के लक्षण

हर्निया के लक्षण – hernia symptoms in hindi

हर्निया को पहचानना काफी आसान है । यदि आपको नीचे बताई गई समस्याएं हो रही हैं तो यह पूरी संभावना है कि आपको हर्निया हो सकता है ।

  • पेट में तेज दर्द ।
  • पेट के नीचे दर्द अथवा तेज दबाव महसूस करना या बार-बार उल्टी आना ।
  • पाचन का कमजोर होना और खाना अच्छे से ना पचना ।
  • सांस लेने में परेशानी होना ।
  • निगलने में परेशानी होना ।

hernia ke karan

हर्निया के कारण – causes of hernia in hindi

हर्निया का कोई एक मुख्य कारण नहीं है । यह किसी को भी हो सकता है और कभी भी हो सकता है पर चिकित्सकों के द्वारा नीचे बताए गए कारण दिए गए हैं जिसके कारण हर्निया जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती है ।

  • आंतों की कोशिकाओं अथवा झिल्लियों का कमजोर होना।
  • मोटापा बढ़ने के कारण भी हो सकता है । पढ़ें – Motapa kam karne ke upay |
  • जरूरत से ज्यादा वजन उठाने से भी हो सकता है ।
  • पानी कम पीने के कारण भी हो सकता है ।
  • गर्भावस्था के दौरान भी हर्निया हो सकता है ।
  • पेट अथवा आंतों में हुई सर्जरी के कारण भी हो सकता है हर्निया ।

hernia ka ilaj

हर्निया का इलाज – hernia ka ilaj

हर्निया एक काफी बड़ी समस्या है और यदि यह अपना विकराल रूप ले चुका है तो इसका इलाज किसी भी घरेलू नुस्खे से करना मुमकिन नहीं है । यदि आपका हर्निया बड़ा हो चुका है और काफी विकराल रूप ले चुका है तो आपको किसी अच्छे चिकित्सक से संपर्क करके हर्निया का इलाज करवाना चाहिए ज्यादातर मामलों में हर्निया के मरीजों को सर्जरी करानी पड़ती है तभी यह ठीक होता है पर यदि आपके हर्निया की शुरुआत है और आपका हर्निया काफी छोटा है तो आप नीचे बताए गए घरेलू नुस्खे से ठीक कर सकते हैं ।

हर्निया के घरेलू उपाय

1) त्रिफला त्रिफला को पेट और पाचन तंत्र की सबसे अच्छी दवा माना जाता है । ऐसा कहा जाता है कि जो व्यक्ति त्रिफला का सेवन रोज करता है उसे पेट और पाचन तंत्र से संबंधित कोई भी समस्या या बीमारी हो ही नहीं सकती । इसलिए यदि आपको हर्निया की शिकायत है तो आप आज से ही त्रिफला खाना शुरु कर दें और यदि आप चाहते हैं कि आपको कभी भी हर्निया ना हो या पेट से संबंधित कोई भी प्रॉब्लम ना हो तो आप रोज रात में एक चम्मच त्रिफला पाउडर को पानी के साथ लेना शुरू करें ( hernia ka ilaj )

2) एलोवेरा – एलोवेरा में एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व पाए जाते हैं जो हर्निया में काफी फायदेमंद होता है । यदि आपको हर्निया की शिकायत है तो आप एलोवेरा का जूस रोज सुबह खाली पेट में पीना शुरू करें धीरे धीरे यह आपके हर्निया को रिपेयर करना शुरू करेगा और आपके हर्निया के दर्द में भी काफी कमी आने लगेगी ।

3) मेथी – मेथी को दर्द निवारक भी माना जाता है । इसमें प्राकृतिक एनेस्थेटिक गुण पाए जाते हैं । यदि आप रोज सुबह खाली पेट में मेथी का पानी पीते हैं तो यह हर्निया को ठीक करने में काफी फायदेमंद हो सकता है ( hernia ka ilaj ) । मेथी का इस्तेमाल करने के लिए आप रात में 1 गिलास पानी में 1 चम्मच मेथी के दाने उबालें और रात भर इसे छोड़ दें सुबह उठकर मेथी के दानों को छानकर उस पानी को सुबह खाली पेट में पी जाएं ।

4) दालचीनी – दालचीनी को भारत में मसाले के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है पर दालचीनी में कई औषधीय गुण भी पाए जाते हैं जो कई बीमारियों का उपचार कर सकती है । यदि आप दालचीनी का सेवन रोज करते हैं तो यह हर्निया को ठीक करने में सहायता करता है ( hernia ka ilaj ) । इसके लिए आप एक गिलास पानी में 1/2 चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर इसे उबालें और इसे ठंडा होने दें अब सुबह खाली पेट में इसे पी जाएं ।

5) सेब का सिरका – सेब का सिरका हर्निया में और हर्निया के दर्द को कम करने में काफी किफायती माना गया है । यदि आपका हर्निया फर्स्ट स्टेज में है तो रोज सुबह खाली पेट में सेब का सिरका पीना शुरू करें । यह आपके हर्निया को ठीक करना शुरू कर देगा और साथ ही आपके हर्निया के दर्द को कम करने में भी आपकी मदद करेगा । पढ़ें –  सेब के फायदे और नुकसान |

6) अदरक की जड़ – अदरक का इस्तेमाल तो आपने कई चीजों में किया होगा पर बहुत कम ही लोग जानते हैं कि अदरक का इस्तेमाल हर्निया को ठीक करने में भी किया जाता है । इसके लिए आप रोज सुबह खाली पेट में 2 चम्मच अदरक का रस पीना शुरू करें यह हर्निया में काफी फायदेमंद होता है ( hernia ka ilaj ) । पढ़ें – अदरक खाने के फायदे |

7) अलसी के बीज – अलसी के बीज में काफी हाई क्वालिटी प्रोटीन होता है जो झिल्ली और कोशिकाओं को रिपेयर करने में काफी मदद करता है । यदि आप रोज अलसी के बीज का सेवन किसी भी रूप से करते हैं तो आपके हर्निया को ठीक होने में मदद मिलती है । आप चाहे तो अलसी के बीज का पाउडर बनाकर पानी के साथ ले सकते हैं या फिर अलसी के बीज को गुड़ के साथ मिलाकर लड्डू बनाकर भी खा सकते हैं यह दोनों ही अवस्था में बहुत ही फायदेमंद होता है ( hernia ka ilaj ) । पढ़ें – Alsi ke fayde, upyog aur nuksan |

हर्निया में क्या नहीं खाना चाहए

हर्निया में क्या नहीं खाना चाहए

हर्निया में अपने खान-पान का ध्यान रखना बेहद जरूरी है क्योंकि आप जो भी खाएंगे वह आपके पाचन तंत्र के अंदर से गुजरेगा और यदि आप गलत चीजों का सेवन करेंगे तो आपको तकलीफ और दर्द भी ज्यादा होगी इसलिए नीचे बताए गए भोजन का सेवन हर्निया में बिल्कुल ना करें ।

  • मसालेदार या तले हुए खाद्य पदार्थ
  • सोडियम में उच्च खाद्य पदार्थ
  • अल्कोहल
  • कैफीन युक्त पेय
  • कोल्ड ड्रिंक
  • फास्ट फूड
  • मांस
  • उच्च वसा वाले आहार
  • लहसून और प्याज

हर्निया में क्या खाना चाहिए

हर्निया में क्या खाना चाहिए

हर्निया में हमेशा ऐसे भोजन का सेवन ज्यादा करना चाहिए जिसमें लो एसिड और फाइबर युक्त हो ताकि उस भोजन को पचने में आसानी हो |

  • सलाद पत्ते
  • गाजर
  • पालक
  • शतावरी
  • मशरूम
  • कद्दू
  • आलू
  • ब्रोकली
  • सेब और केले
  • नाशपाती
  • अंजीर
  • ब्राउन राइस
  • पॉपकॉर्न

हर्निया में परहेज

हर्निया में परहेज

हर्निया में यूं तो कई खाने पीने की चीजें हैं जिससे आपको परहेज करना चाहिए पर कई ऐसी बातें भी है जिसका ध्यान आपको अवश्य रखना चाहिए तो चलिए जान लेते हैं कि हर्निया में आपको किन चीजों से परहेज करना चाहिए ।

  • ज्यादा मसालेदार और तले हुए भोजन ना करें ।
  • रोज 8 से 10 गिलास पानी अवश्य पिएं ।
  • ज्यादा भारी वज़न ना उठाएं इससे हर्निया की समस्या और बढ़ सकती है ।
  • हर्निया में चाय और कॉफी का सेवन करने से बचना चाहिए ।
  • धूम्रपान बिल्कुल ना करें ।
  • अपना वजन नियंत्रण में रखें और वजन बढ़ने ना दे ।

Leave a Comment

close