Haldi ke fayde, upyog aur nuksan – हल्दी के फायदे, उपयोग और नुकसान

हल्दी का उपयोग सर्वप्रथम भारत में शुरू हुआ इसका उपयोग मसाले के तौर पर होना शुरू हुआ और इसके औषधीय गुणों के कारण इसका उपयोग कई आयुर्वेदिक दवाओं में भी होने लगा । आयुर्वेद में हल्दी का बेहद ऊंचा स्थान है क्योंकि इसमें anti-oxidant, anti-inflammatory, anti-bacterial और anti-viral तत्व होते हैं जो इसे बेहद कीमती तत्व बनाते है । हल्दी के कई फायदे होते है जिनके बारे में हर इंसान को जान लेना चाहिए ।

आज Healthkenuskhe के इस लेख में आप जानेंगे हल्दी क्या है, हल्दी के पौष्टिक तत्व, haldi ke fayde, हल्दी का उपयोग और हल्दी के नुकसान इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि अधूरी जानकारी सेहत के लिए खतरनाक हो सकती है ।

हल्दी क्या है – What is turmeric in hindi ?

हल्दी एक औषधि है जो अदरक के परिवार से ताल्लुक रखती है, इसका वैज्ञानिक नाम Curcuma Longa है । इसे अंग्रेजी में Turmeric भी कहा जाता है । यह देखने में बिल्कुल अदरक की तरह होता है पर इसका रंग पीला होता है । हल्दी को सुखाकर इसका पाउडर बनाकर ज्यादातर लोग इस्तेमाल करते हैं ।

अगर आप इसे एक औषधि की तरह इस्तेमाल करते हैं तो आपको कच्ची हल्दी का उपयोग करना चाहिए । Kachi haldi ke fayde बहुत है, इसलिए लोगों को इसका इस्तेमाल जरूर करना चाहिए । आइए अब जानते हैं कि हल्दी मे कौन-कौन से तत्व होते है ।

ये भी पढ़ें – अदरक के फायदे, उपयोग और नुकसान

हल्दी के पौष्टिक तत्व

हल्दी के पौष्टिक तत्व

पौष्टिक तत्व प्रति 100 ग्राम
पानी 12.85 ग्राम
एनर्जी 312 केसीएल
प्रोटीन 9.68 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट) 3.25 ग्राम
ऐश 7.08 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट 67.14 ग्राम
फाइबर, टोटल डायटरी 22.7 ग्राम
शुगर, टोटल इंक्लूडिंग एनआईए (NLEA) 3.21ग्राम
कैल्शियम 168 मिलीग्राम
आयरन 55 मिलीग्राम
मैग्नीशियम 208 मिलीग्राम
 फास्फोरस 299 मिलीग्राम
पोटेशियम 2080 मिलीग्राम
सोडियम 27 मिलीग्राम
जिंक 4.5 मिलीग्राम
कॉपर 1.3 मिलीग्राम
मैंगनीज 19.8 मिलीग्राम
सेलेनियम 6.2 माइक्रोग्राम
विटामिन सी, टोटल एस्कॉर्बिक एसिड 0.7 मिलीग्राम
थियामिन 0.058 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन 0.15 मिलीग्राम
नियासिन 1.35 मिलीग्राम
पैंटोथैनिक एसिड 0.542 मिलीग्राम
विटामिन बी-6 0.107 मिलीग्राम
फोलेट, कुल 20 माइक्रोग्राम
कोलीन, कुल 49.2 मिलीग्राम
बीटेन 9.7 मिलीग्राम
विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरॉल) 4.43 मिलीग्राम
विटामिन के (फिलोक्विनोन) 13.4 माइक्रोग्राम
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड 1.838 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड 0.449 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड 0.756 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल ट्रांस-मोनोएनिक 0.056 ग्राम

haldi ke fayde

हल्दी के फायदे – Haldi ke fayde

1) चेहरे की रंगत को निखारें

सिर्फ सेहत के लिए ही नहीं बल्कि हल्दी के फायदे स्किन के लिए भी अनेक है । वैसे तो यह खाना बनाने में मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है लेकिन इसके इस्तेमाल से आप त्वचा के रंग को भी निखार सकते है । आपको सबसे पहले कच्ची हल्दी को धूप में सुखाकर, उसे पीसकर चूर्ण तैयार कर लेना है ।

फिर उसमें आवश्यकता अनुसार पानी मिलाएं और हल्दी का लेप तैयार कर ले । इसे चेहरे पर और अपने शरीर की त्वचा पर अप्लाई करें और सूखने के लिए छोड़ दें । फिर जब यह सुख जाए तब आप अपने चेहरे और शरीर को अच्छी तरह से धो लें । ऐसा कुछ दिनों तक लगातार करने से आपकी त्वचा का रंग निखर जाएगा

ये भी पढ़ें – चेहरे को गोरा बनाने के तरीके

2) सर्दी और जुकाम में हल्दी के फायदे

हल्दी वाला दूध पीने से शरीर को कई बड़े फायदे मिलते है । इसके सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और सर्दी व जुकाम जैसी समस्याएं दूर हो जाती है । अगर आप कच्ची हल्दी का इस्तेमाल करेंगे तो आपको ज्यादा फायदे मिलेंगे ।

ये भी पढ़ें – सर्दी-जुकाम के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज

3) बाल झड़ना

Haldi ke fayde बालों के लिए भी है । यदि आपके बाल किसी एलर्जी या फिर किसी अन्य करण से झड़ रहे हैं तो आप कच्ची हल्दी के रस में चुकंदर की पत्तियों के रस को मिलाएं और फिर उसे अपने बालों पर अप्लाई करें । ऐसा करने से बाल झड़ने की समस्या भी खत्म हो जाएगी ।

ये भी पढ़ें – बाल झड़ने से कैसे रोकें ?

4) रोग प्रतिरोधक क्षमता

एक शोध में यह पाया गया है कि अगर आप रोजाना 1 ग्राम हल्दी का सेवन करेंगे तो इससे आपके शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत हो जाएगा और आप लंबे समय तक निरोग और स्वस्थ बने रहेंगे ।

5) कील मुहांसों को दूर करती है

यदि आप कील मुहांसों से परेशान हैं या फिर आपकी त्वचा ऑयली हो गई है तो आप हल्दी के पाउडर में गुलाब जल को मिलाकर उसे चेहरे पर अप्लाई करें और उसे सूखने के लिए छोड़ दें । फिर जब वह सूख जाए तब आप अपने चेहरे को धो लें । सप्ताह में ऐसा 2 से 3 बार करने से यह समस्या भी समाप्त हो जाएगी ।

ये भी पढ़ें – कील मुहांसों को दूर करने के तरीके

6) कैंसर को खत्म करती है

आयुर्वेद के अनुसार अगर हल्दी का इस्तेमाल सही तरीके से किया जाए तो कैंसर जैसी बड़ी बीमारी को भी खत्म किया जा सकता है । हल्दी शरीर में मौजूद कैंसर को बढ़ाने वाली कोशिकाओं को नष्ट करती है जिससे कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है । कई शोधों यह पाया गया है कि कैंसर में होने वाली गांठ या ट्यूमर को हल्दी खत्म करती है । इसलिए आपको रोजाना निर्धारित मात्रा में हल्दी का सेवन जरूर करना चाहिए ।

ये भी पढ़ें – कैंसर के लक्षण, कारण और इलाज

7) डायबिटीज में हल्दी के फायदे

हल्दी वाला दूध पीने से जोड़ों के दर्द की समस्या भी खत्म हो जाती है । यह डायबिटीज में भी फायदेमंद होती है । हल्दी का सेवन करने से डायबिटीज में बार बार पेशाब आने की समस्या से छुटकारा मिल जाता है ।

ये भी पढ़ें – डायबिटीज के लक्षण, कारण और इलाज

8) प्राकृतिक पेनकिलर

हल्दी को एक नेचुरल पेनकिलर भी कहा जाता है क्योंकि चोट लगने पर हल्दी वाले दूध का सेवन करने से दर्द एकदम से कम हो जाता है और चोट भी धीरे-धीरे ठीक होने लगती है । इसलिए आयुर्वेद में भी इसे नेचुरल पेनकिलर का दर्जा दिया गया है ।

9) पेट की चर्बी

1 ग्राम हल्दी का सेवन रोजाना करने से मेटाबॉलिज्म भी ठीक रहता है । इसके साथ ही साथ पेट की चर्बी और मोटापा भी घट जाता है । हल्दी के इस्तेमाल से आप अत्यधिक मोटापे को खत्म कर सकते हैं । पेट की चर्बी कम करने में Haldi ke fayde लाभकारी है ।

ये भी पढ़ें – मोटापा बढ़ने के कारण और इलाज

10) झुर्रियों को दूर करती है

यदि आप अपने चेहरे से झुर्रियों को मिटाना चाहते हैं तो आप हल्दी में दही को मिलाकर उसे अपने चेहरे पर अप्लाई करें और उसे सूखने के लिए छोड़ दें । फिर सूखने के बाद आप अपने चेहरे को धो लें । ऐसा कुछ दिनों तक लगातार करने से आपको फर्क महसूस होने लगेगा । इसमें एंटी एजिंग गुण पाए जाते हैं जो झुर्रियों को हटाने में सहायक होते हैं ।

ये भी पढ़ें – झुर्रियों का कारण और इसका इलाज

11) स्ट्रेच मार्क्स को हटाती है हल्दी

महिलाएं डिलीवरी के बाद पेट और कमर पर आने वाली स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के लिए बहुत ज्यादा परेशान रहती है । ऐसे में हल्दी में नारियल तेल को मिलाकर स्ट्रेच मार्क्स पर लगाने से कुछ हफ्तों में यह खत्म हो जाती है ।

12) दिल की बीमारी में फायदेमंद

यह दिल की बीमारी में भी लाभदायक होती है क्योंकि हल्दी में पाए जाने वाला curcumin तत्व शरीर में खून के थक्के को बनने से रोकता है । यह कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करता है जिससे दिल पर दबाव कम होता है और वह सुचारू रूप से काम करता है । Haldi ke fayde ना सिर्फ शरीर के बाहरी हिस्स्सों के लिए है बल्कि भीतरी हिस्सों के लिए भी है ।

13) गठिया

Harvard Medical School में छपी एक report के अनुसार हल्दी में जो curcumin पाया जाता है वह गठिया जिसे अंग्रेजी में Osteoarthritis भी कहा जाता है में आराम दिलाने का काम करता है । हल्दी में anti-inflammatory तत्व भी होते हैं जो गठिया के दर्द को कम करने में भी सक्षम होते हैं इसलिए गठिया के मरीजों को हल्दी का सेवन अवश्य करना चाहिए ( Source )

14) घाव भरने में हल्दी के फायदे

हजारों वर्षों से भारत में घाव को भरने के लिए हल्दी का प्रयोग होता आया है दरअसल हल्दी में anti-bacterial, anti-inflammatory और Antiseptic गुण होते हैं जो घाव को जल्दी भरने में मदद करते हैं पर इस बात का भी ध्यान रखा जाना चाहिए कि हल्दी का उपयोग छोटे-मोटे घाव को भरने में ही किया जाता है, अगर चोट गंभीर है तो उसका इलाज डॉक्टर से ही कराया जाना चाहिए ।

15) सोरायसिस

आप में से बहुत से लोगों को शायद इस बीमारी के बारे में जानकारी नहीं होगी तो आपको बता दें कि सोरायसिस एक त्वचा संबंधित समस्या है जिसमें त्वचा पर पपड़ी जमने लग जाती है साथ ही इसमें लाल रंग के चकत्ते हो जाते हैं और त्वचा में खुजली भी होती है । हल्दी में anti-oxidant और anti-bacterial गुण होने के कारण हल्दी सोरायसिस को ठीक करने में आपकी मदद कर सकती है। सोरायसिस को ठीक करने के लिए हल्दी का लेप त्वचा पर लगाया जाता है ।

16) लिवर detox

जो लोग ज्यादा तेल मसालेदार खाना खाते हैं एवं शराब का ज्यादा सेवन करते हैं उनका लिवर काफी टॉक्सिक हो जाता है जिसके कारण लिवर कमजोर होने लगता है । NCBI की एक रिपोर्ट के अनुसार चूहों पर हुए एक रिसर्च में यह बात सामने आई थी हल्दी लिवर को detoxify करने में शरीर की मदद करता है जिसके कारण लिवर के सारे toxins बाहर निकल जाते हैं पर लिवर फिर से स्वस्थ होने लगता है । इस विषय में अभी भी काफी शोध करने की जरूरत है ( Source )

17) हार्ट के लिए हल्दी के फायदे

हल्दी में जो curcumin नाम का तत्व होता है वो हार्ट की सेहत के लिए बहुत ही जरूरी होता है, curcumin में हार्ट को स्वस्थ रखने के गुण पाए गए हैं, यही नहीं एक study में इस बात की भी पुष्टि की गई थी की जो लोग bypass surgery करवाते हैं उन्हें curcumin का सेवन करवाने से उन्हें हार्ट अटैक होने की संभावना कम हो जाती है इसलिए हार्ट के मरीजों को हल्दी का सेवन अवश्य कराना चाहिए ( Source )

ये भी पढ़ें – हार्ट अटैक के लक्षण, कारण और इससे बचने के उपाय

18) अल्जाइमर

बहुत से लोग ऐसे होंगे जो इस बीमारी से अनजान होंगे तो आपको बता दें कि अल्जाइमर एक प्रकार की मानसिक बीमारी है जिसमें वह लोग जिनकी उम्र 50 वर्ष से ज्यादा हो जाती है उनका दिमाग कमजोर होने लगता है और सिकुड़ने लगता है जिसके कारण उनकी याददाश्त आहिस्ता-आहिस्ता कमजोर होने लगती है । अल्जाइमर में भी Haldi ke fayde लाभकारी है ।

NCBI की एक रिपोर्ट के अनुसार हल्दी में curcumin नाम का एक तत्व होता है जो अल्जाइमर से लड़ने में आपके शरीर की मदद करता है और यह बात वैज्ञानिकों के द्वारा साबित भी की जा चुकी है । अगर आपके घर में कोई बुजुर्ग है और उनकी याददाश्त कमजोर हो रही है तो उन्हें रात में सोने से पहले एक गिलास दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर अवश्य पिलाएं धीरे-धीरे उनकी याददाश्त बढ़ने लगेगी ( Source )

19) डिप्रेशन में हल्दी के फायदे

हमारे समाज में डिप्रेशन को दिमागी बीमारी समझा जाता है पर यह एक प्रकार की समस्या है जिसे ठीक किया जा सकता है । आज कई बड़े-बड़े celebrity डिप्रेशन के कारण खुदकुशी कर रहे हैं इसलिए इस विषय में हर किसी को सोचने की जरूरत है । एक स्टडी में यह बात साबित की गई कि हल्दी में मौजूद curcumin, anti-oxidant और anti-inflammatory तत्व डिप्रेशन से लड़ने में आपकी मदद कर सकते हैं इसलिए अगर आप डिप्रेशन से जूझ रहे हैं तो रात में हल्दी वाला दूध पीना बिल्कुल ना भूलें ( Source )

ये भी पढ़ें – तनाव दूर करने के तरीके

20) Periods के दौरान

हर महिला के लिए महीने के कुछ दिन काफी कष्टकारी होते हैं, periods के दौरान उन्हें पेट दर्द, कमर दर्द, खून का स्त्राव जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है पर कुछ महिलाओं में यह दर्द काफी ज्यादा होता है । एक study के अनुसार हल्दी में मौजूद anti-inflammatory गुण के कारण पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द में कमी लाई जा सकती है ।

इसलिए अगर आप उन महिलाओं में से एक हैं जिन्हें periods के दौरान काफी दर्द का सामना करना पड़ता है तो आपको हल्दी वाला दूध अवश्य पीना चाहिए या किसी रूप में हल्दी का सेवन ज़रूर करना चाहिए ।

अब आप haldi ke fayde जान चुके होंगे । तो चलिए अब जानते है कि हल्दी का उपयोग किस प्रकार से करें ताकि हल्दी के सारे फायदे आपको मिल सके ।

हल्दी का उपयोग कैसे करें

हल्दी का उपयोग कैसे करें ?

अगर आप haldi ke fayde उठाना चाहते हैं तो नीचे बताए गए तरीकों से हल्दी का उपयोग करें –

  • सब्जी में डालकर – अगर आप कोई हरी सब्जी बना रहे हैं तो उसमें हल्दी डालकर सेवन कर सकते हैं ।
  • सलाद में डालकर – अगर आप सलाद का सेवन करते हैं तो सलाद में हल्का नमक और हल्का हल्दी मिलाकर भी इसका सेवन करें ।
  • सूप में डालकर – अगर आप सूप पीने के शौकीन हैं तो सूप में डालकर भी आप हल्दी का सेवन कर सकते हैं ।
  • चाय में डालकर – अगर आप चाय के शौकीन हैं तो आप अपनी चाय में आधी चम्मच हल्दी डाल दें, इससे उसका स्वाद बढ़ जाएगा और उसके गुण भी बढ़ जाएंगे ।
  • दूध में डालकर – हल्दी दूध के फायदे भी अनेक है । एक गिलास दूध में आधी चम्मच हल्दी डालकर पीने से आपको बहुत फायदा होता है, इस तरह से हल्दी का सेवन आपको अवश्य करना चाहिए ।
  • त्वचा पर लगाएं – हल्दी का लेप आप त्वचा पर या अपने चेहरे पर लगाकर अपनी खूबसूरती को बढ़ा सकते हैं ।

कच्ची हल्दी का करें इस्तेमाल

आज ज्यादातर लोग हल्दी के पाउडर का इस्तेमाल करते हैं पर बाजार में मिलने वाले हल्दी के पाउडर पूरी तरह से शुद्ध हो यह जरूरी नहीं है और हल्दी को सुखाकर पीस देने से इसके कई गुण खत्म हो जाते हैं । इसलिए अगर आप कच्ची हल्दी का उपयोग अपने भोजन में या अपनी आयुर्वेदिक दवाइयों में करते हैं तो इसका ज्यादा फायदा आपको मिल सकेगा ।

अगर आपको कच्ची हल्दी नहीं मिल पा रही है तो किसी अच्छी कंपनी के हल्दी पाउडर का ही इस्तेमाल करें जिसमें artificial कलर का इस्तेमाल ना किया गया हो और वह pure हल्दी हो । Kachi haldi ke fayde बाजार में मिलने वाली मिलावटी हल्दी पाउडर के मुकाबले कई गुणा ज्यादा है ।

हल्दी के नुकसान

हल्दी के नुकसान – Haldi ke nuksan

कहते हैं कि अगर किसी चीज का जरूरत से ज्यादा उपयोग किया जाए तो उसका नुकसान भी होता है, उसी प्रकार हल्दी का भी अगर जरूरत से ज्यादा उपयोग आप करेंगे तो आपको नीचे बताए गए नुकसान हो सकते हैं ।

  • जिन लोगों को किडनी में पथरी की समस्या होती है, उन्हें हल्दी का सेवन कम करने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि हल्दी में oxalate की मात्रा होती है जो किडनी स्टोन को बढ़ावा देती है ।

ये भी पढ़ें – पथरी के कारण,लक्षण और इलाज

  • NCBI की एक रिपोर्ट के अनुसार, अगर हल्दी का जरूरत से ज्यादा सेवन किया जाए तो यह एनीमिया यानी कि शरीर में खून की कमी का कारण भी बन सकती है ( Source )

ये भी पढ़ें – खून की कमी के कारण, लक्षण और इलाज

  • ज्यादा हल्दी का सेवन आपके पेट को भी खराब कर सकता है और अपच, एसिडिटी जैसी समस्याओं को जन्म दे सकता है ।
  • हल्दी का जरूरत से ज्यादा सेवन करना आपको दस्त, उल्टियां और मचली जैसी समस्याएं भी दे सकती है ।
  • कुछ लोगों को हल्दी सूट नहीं करती अथवा उन लोगों में हल्दी का इस्तेमाल करने से सिर दर्द, त्वचा में रैशेस की समस्या भी हो सकती है ।

ऊपर बताए गए तमाम हल्दी के नुकसान आपको तभी होते हैं जब आप हल्दी का जरूरत से ज्यादा उपयोग करना शुरू कर देते है । इसीलिए सीमित मात्रा में ही हल्दी का उपयोग करें और ऐसा करने से आपको केवल हल्दी के फायदे ही मिलेंगे ।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हल्दी से संबंधित सारी जानकारियां मिल चुकी होगी और आप हल्दी के फायदे, उपयोग और नुकसान ” जान चुके होंगे । अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल है तो comment box में पूछे हमारी टीम आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेगी । अगर आप चाहते हैं कि हमारी अगली पोस्ट भी आप तक पहुंचे तो हमारी website healthkenuskhe.com को अभी subscribe कर ले, आपका दिन शुभ हो धन्यवाद ।

Leave a Comment