Alsi ke fayde, upyog aur nuksan – अलसी के 20 फायदे ( Flax Seeds benefits ), उपयोग और नुकसान

Flax seeds जिसे हिंदी में अलसी के बीज ( alsi ke beej ) भी कहा जाता है । अलसी के बीज का इस्तेमाल भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में होता है । यह उन लोगों के लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है जो लोग अपने आप को फिट रखना चाहते हैं । आज हम जानेंगे अलसी के फायदे ( alsi ke fayde ), उपयोग और नुकसान |

अलसी के प्रकार

अलसी के प्रकार

1) भूरे – भूरे रंग की अलसी में कोलेस्ट्रॉल को कम करने की ताकत बहुत ज्यादा होती है । यदि आप भूरे रंग की अलसी का सेवन करते हैं तो यह आपके खून में मौजूद बैड कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड को कम कर देता है ।

2) पीले/सुनहरे – पीली अलसी में हाई क्वालिटी प्रोटीन ज्यादा होता है जिसके कारण यदि आप बॉडी बनाना चाहते हैं या अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं तो आपको पीली अलसी का सेवन करना चाहिए हालांकि दोनों ही समान रूप से बहुत फायदेमंद होती हैं और दोनों ही आपको बाजार में आसानी से मिल जाएंगे ।

अलसी के बीज में पाए जाने वाले पोषक तत्व

आइए अब जानते हैं कि 1 टेबलस्पून अलसी में कौन-कौन से पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं ।

  • कैलोरी: 37
  • प्रोटीन: 1.3 ग्राम
  • कार्ब्स: 2 ग्राम
  • फाइबर: 1.9 ग्राम
  • कुल फैट: 3 ग्राम
  • सैचुरेटेड फैट: 0.3 ग्राम
  • मोनोअनसैचुरेटेड फैट: 0.5 ग्राम
  • पॉलीअनसेचुरेटेड फैट: 2.0 ग्राम
  • ओमेगा-3 फैटीएसिड: 1,597 मिलीग्राम
  • विटामिन बी 1: आरडीआई का 8%
  • विटामिन B6: RDI का 2%
  • फोलेट: RDI का 2%
  • कैल्शियम: RDI का 2%
  • आयरन: RDI का 2%
  • मैग्नीशियम: RDI का 7%
  • फास्फोरस: RDI का 4%
  • पोटेशियम: RDI का 2%

Flax Seeds को सबसे खास उनके यह 3 तत्व बनाते हैं जो है ओमेगा-3 फैटी एसिड, लिगनेंस और फाइबर जिनके फायदे नीचे हम जानेंगे ।

alsi ke fayde

अलसी के फायदे ( alsi ke fayde ) – flax seed benefits in hindi

1) हार्ट अटैक जिस प्रकार का खानपान और जिस प्रकार की खराब जीवनशैली हो चली है ऊपर से काम का प्रेशर और तनाव ऐसी स्थिति में हार्ट पर तो इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा ही । इस स्थिति में यदि आप अलसी का सेवन करना शुरू करते हैं तो यह आपके हार्टअटैक होने की संभावना को काफी हद तक कम कर देता है ( alsi ke fayde ) । अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है जो हार्ट अटैक के खतरे को कम करता है साथ ही धमनियों की कार्यशैली को भी बाधित होने से रोकता है ।

2) कैंसर – आज के समय में कैंसर भी बहुत ही तेजी से बढ़ रहा है । कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका इलाज काफी महंगा भी है और काफी कठिन भी पर यदि आप अलसी का सेवन करना शुरू करते हैं तो इसमें मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड और एंटी फ्लेमेट्री गुण कैंसर कारी तत्वों से लड़ने में आपके शरीर की सहायता करते हैं और आपके शरीर में कैंसर होने के जोखिम को भी कम करते हैं । एक रिसर्च में यह बात सामने आ चुकी है कि अलसी खाने से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम होता है ( alsi ke fayde ) । जानिए – कैंसर के लक्षण |

3) पंचनतंत्र – अलसी के अंदर प्रचुर मात्रा में फाइबर पाई जाती है और फाइबर पाचनतंत्र को मजबूत बनाता है और पेट एवं आंतों की सफाई करने का काम करता है । यदि आप अलसी का सेवन करते हैं तो आपको पाचनतंत्र से संबंधित समस्या कम ही होती है । आपको समय पर भी भूख लगती है और आप जो खाते हैं वह सही से पचता है और आपके शरीर को अंग भी लगता है ।

4) हाइपरटेंशन वह लोग जिन्हें हाइपरटेंशन यानी कि हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है उन लोगों को अलसी का सेवन अवश्य करना चाहिए हाई ब्लड प्रेशर एक ऐसी बीमारी है जिसके कारण आपको हार्ट अटैक और पैरालिसिस जैसी बड़ी समस्याएं हो सकती हैं पर अलसी में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखता है और आपको बड़े खतरे से बचाता है ( अलसी के फायदे )

5) हाई-क्वालिटी प्रोटीन – वह लोग जो शाकाहारी हैं और अपनी बॉडी बनाना चाहते हैं या फिर अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं उनके पास प्रोटीन का ज्यादा बेहतर सोर्स नहीं होता । इस मामले में अलसी एक बहुत ही बेहतरीन चॉइस मानी जा सकती है क्योंकि इसमें हाई क्वालिटी प्रोटीन पाया जाता है जो आसानी से पच भी जाता है और इसका प्रभाव भी शरीर पर काफी बेहतर होता है । यह वजन बढ़ाने में एवं मस्कुलर बॉडी पाने में आपकी मदद कर सकता है ( alsi ke fayde )

6) डायबिटीज अगर आप एक डायबिटीज के मरीज हैं तो आपको अपना शुगर लेवल कंट्रोल में रखना बहुत जरूरी होता है । यदि आप अलसी का सेवन रोज करते हैं तो आपको डायबिटीज की दवा लेने की भी आवश्यकता नहीं पड़ती क्योंकि अलसी आपके खून में शुगर की मात्रा को कंट्रोल में रखता है और ग्लूकोज़ उसकी मात्रा को बढ़ाता है जिससे आपका डायबिटीज भी कंट्रोल में रहता है ।

7) वज़न घटाए आज के समय में जिस प्रकार का जीवन ज्यादातर लोग जी रहे हैं वह ज्यादा शारीरिक परिश्रम नहीं कर पा रहे । दिनभर कंप्यूटर के सामने बैठकर काम करके उनका पेट और उनके शरीर का वजन बढ़ता ही चला जा रहा है । अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं और कसरत करके ज्यादा मेहनत भी नहीं । करना चाहते तो अलसी एक अच्छी चॉइस हो सकती है अलसी में फाइबर की प्रचुर मात्रा होती है जो आपके वजन को घटाने में मदद करती है साथ ही इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो आपकी भूख को कम करता है जिससे आपका वजन कम होने में भी आपको मदद मिलती है ( alsi ke fayde )

8) सर्दी-खाँसी में कारगर – बदलते मौसम के साथ सर्दी-खांसी भी आ ही जाती है और यह सर्दी खांसी जल्दी नहीं जाती । इस परिस्थिति में अलसी आपकी काफी सहायता कर सकती है । दरअसल अलसी की तासीर गर्म होती है जिसके कारण यदि आप सर्दी-खांसी में भी इसका सेवन करेंगे तो यह आपके सर्दी-खांसी को ठीक कर देगी । इसके लिए आप चाहे तो अलसी के पाउडर की चाय बनाकर पी सकते हैं या एक कप गर्म पानी में अलसी के पाउडर को उबालकर भी पी सकते हैं ।

9) इम्युनिटी – जब मौसम बदलता है और आपको तुरंत सर्दी-जुकाम के लक्षण आने लगते हैं तो यह दर्शाता है कि आपकी इम्यूनिटी कितनी कमजोर है । यदि आप रोज किसी भी रूप में अलसी का सेवन करेंगे तो यह आपकी इम्यूनिटी को बढ़ा देगा ( अलसी के फायदे ) जिसके कारण आपका शरीर अंदर से मजबूत हो जाएगा और छोटी मोटी बीमारियां जैसे कि सर्दी, खांसी, बुखार आदि आपको होंगी ही नहीं।

10) किडनी – जिस प्रकार का खानपान आज के समय में हो चला है । लोग तली भुनी चीजें और जंक फूड का ज्यादा सेवन कर रहे हैं जिसके कारण किडनी से संबंधित परेशानियां भी सामने आ रही हैं । यदि आप किडनी से संबंधित बीमारियों से बचना चाहते हैं तो आपको अलसी का सेवन अवश्य करना चाहिए । अलसी में मौजूद अल्फा लिनोलेनिक एसिड किडनी की परेशानियों एवं बढ़ते जोखिम को ठीक करने में मदद करता है।

11) गठिया/जोड़ों का दर्द – एक समय था जब गठिया एवं जोड़ों का दर्द बूढ़े लोगों की बीमारी हुआ करती थी । जिस प्रकार जीवनशैली बदल रही है लोग या तो दिनभर कुर्सी पर बैठ कर बिता देते हैं या तो सही से पौष्टिक आहार नहीं लेते हैं जिसके कारण उनकी हड्डियां कमजोर होती है और उनके शरीर में कैल्शियम की भी कमी हो जाती है । यदि आप अलसी का सेवन करते हैं तो इसमें मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड, कैल्शियमऔर एंटीफ्लेमेट्री गुण जोड़ों के दर्द एवं गठिया के दर्द में आराम दिलाता है।

12) गर्भवती महिलाओं के लिए – गर्भवती महिलाओं के लिए भी अलसी काफी फायदेमंद हो सकता है ( alsi ke fayde ) । दरअसल अलसी कई पौष्टिक तत्वों से समृद्ध होता है जिसके कारण मां को हाई क्वालिटी प्रोटीन मिलता है जिसके कारण उनके बच्चे का भी सही से विकास होता है पर ध्यान रहे कि आपको ज्यादा अलसी का भी सेवन नहीं करना है क्योंकि अलसी में काफी गर्मी होती है और ज्यादा अलसी का सेवन करना बच्चे को नुकसान भी पहुंचा सकता है ।

13) लिवर के लिए फायदेमंद – खाना पचाने के लिए लिवर बहुत ही जरूरी होता है । जब तक लिवर बाइल जूस नहीं बनाता तब तक आपका खाना नहीं पच सकता पर जिस प्रकार का खानपान और जीवनशैली हो चली है पेट और लीवर दोनों की ही अवस्था खराब होती चली जा रही है । इस अवस्था में अलसी का सेवन बहुत ही कारगर हो सकता है ( अलसी के फायदे ) । यह आपके लीवर को ना सिर्फ़ स्वस्थ बनाता है बल्कि आपको ऊर्जा भी प्रदान करता है जिसके कारण आप ज्यादा ताकतवर और ऊर्जावान महसूस करते हैं ।

14) अस्थमा के मरीजों के लिए – आज के समय में जैसे-जैसे दुनिया विकास कर रही है । हवा की क्वालिटी भी घटती चली जा रही है और हवा प्रदूषित होती चली जा रही है जिसके कारण स्वास्थ्य से संबंधित बीमारियां जैसे कि ब्रोंकाइटिस, अस्थमा आदि समस्याएं बढ़ रही है पर यदि आप रोज एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच अलसी का पाउडर डालकर पिए तो यह आपके अस्थमा जैसी समस्या को आराम दिलाता है ( अलसी के फायदे )

त्वचा के लिए अलसी के फायदे – alsi ke fayde for skin

15) एन्टीएजिंग – जिस तरह से उम्र बढ़ती चली जाती है, शरीर बूढ़ा होता चला जाता है पर बूढ़ा होने और बूढ़ा दिखने में बहुत फर्क होता है । यदि आप अपने शरीर का सही से ध्यान रखें सही से व्यायाम करें और सही डाइट का पालन करें तो आप लंबे समय तक जवान दिख सकते हैं । ऐसा करने के लिए आप चाहे तो अलसी का सेवन कर सकते हैं । इसमें मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट आपकी त्वचा को जवान बनाए रखने में मदद करते हैं ( alsi ke fayde ) साथ ही आप अलसी के तेल का इस्तेमाल भी अपनी त्वचा पर करते हैं तो यह आपकी त्वचा को लंबे समय तक जवान बनाए रखता है ।

16) कील-मुहासे प्रदूषण एवं धूल-मिट्टी के कारण कील मुहांसों की समस्या बढ़ती है वहीं जिस प्रकार का खानपान आज लोग खा रहे हैं उनका रक्त भी शुद्ध नहीं होता जिसके कारण कील-मुंहासे की समस्या और भी विकराल हो जाती है पर इस अवस्था में यदि आप अलसी का सेवन करते हैं तो यह ना सिर्फ आपके रक्त को साफ करता है बल्कि आपके कील-मुंहासे को भी ठीक करने में आपकी मदद करता है साथ हि आप अलसी के तेल को भी अपने कील मुहांसों पर लगा सकते हैं इससे भी फायदा मिलता है ।

17) एक्जिमा – एक्जिमा एक प्रकार का चर्म रोग है जिसमें एक प्रकार का फंगल इंफेक्शन हो जाता है । यह फंगल इंफेक्शन काफी फैलता भी है । इस अवस्था में त्वचा काफी बदसूरत दिखती है और इसमें काफी खुजली भी होती है पर अलसी का इस्तेमाल यहां पर भी आपको एक्जिमा से राहत दिला सकता है ( alsi ke fayde ) । आप अलसी का सेवन करते रहें साथ ही अपने एक्जिमा पर अलसी के तेल से रोज मालिश करें ऐसा करने से कुछ दिनों में आपके एक्जिमा की समस्या कम होने लग जाएगी । पढ़ें – Eczema aur daad ka ilaj |

बालों के लिए अलसी के फायदे – alsi ke fayde for hair

18) बालों का झड़ना एक वक्त था जब बालों का झड़ना बूढ़े होने की निशानी थी पर अब ऐसा समय आ चुका है कि जवान लोगों के भी बाल झड़ने लग गए हैं जो एक बेहद चिंता का विषय है । इसके कई कारण हो सकते हैं पर ज्यादातर कारण होते हैं सही डाइट की कमी । यदि आप अलसी को अपने डाइट में शामिल करते हैं तो यह आपके बालों का झड़ना कम करता है क्योंकि इसमें हाई क्वालिटी प्रोटीन होता है जो बालों को मजबूत बनाता है ( alsi ke fayde ) । यदि आप अपने बालों में अलसी के तेल का इस्तेमाल करें तो आपको परिणाम और भी जल्दी मिलेंगे ।

19) बालों को बनाए मोटा और घना – जिस प्रकार शरीर को मस्कुलर बनाने के लिए प्रोटीन की आवश्यकता पड़ती है उसी प्रकार बालों को मोटा एवं घना बनाने के लिए भी प्रोटीन की आवश्यकता पड़ती है । यदि आपके शरीर में प्रोटीन की समृद्ध मात्रा हो तो आपके बाल भी स्वस्थ रहते हैं । अलसी में हाई क्वालिटी प्रोटीन पाया जाता है जो आपके बालों की समस्या को दूर करता है एवं आपके बालों को मोटा एवं घना बनाता है ( alsi ke fayde ) । आप बेहतर परिणाम के लिए चाहे तो अपने बालों में अलसी के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं ।

20) बालों की चमक बढ़ाए – यदि आपके बाल रूखे हैं या दो मुंहे हैं तो आपको अलसी के बीज का सेवन अवश्य करना चाहिए साथ ही इसके तेल को भी अपने बालों में लगाना चाहिए । अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड एवं हाई क्वालिटी प्रोटीन की मात्रा आपके बालों की चमक एवं टेक्सचर को बढ़ाने में मदद करती है एवं आपके बाल स्वस्थ, लंबे एवं चमकदार नजर आते हैं जिससे आप और भी ज्यादा खूबसूरत दिखते हैं ।

अलसी को कैसे खाए एवं इसका उपयोग

अलसी को कैसे खाए एवं इसका उपयोग

1) अलसी का पाउडर बना लें और उसे गुनगुने पानी के साथ लेना शुरू करें । एक गिलास गुनगुना पानी में एक चम्मच अलसी का पाउडर मिलाएं और उसे 1 घंटे के लिए छोड़ दें और उसे पी जाएं ।

2) अलसी और गुड़ को मिलाकर उसका लड्डू बनाकर भी आप खा सकते हैं यह भी बहुत ही फायदेमंद एवं स्वादिष्ट तरीका होता है ।

3) आप चाहे तो अलसी को दलिया में मिलाकर भी खा सकते हैं इसके लिए आप एक कटोरी दलिए में एक चम्मच अलसी के बीज मिलाकर खाएं ।

अलसी खाने का सही समय क्या है ?

अलसी को खाने का सबसे अच्छा तरीका माना जाता है सुबह जब आप नाश्ता कर रहे हो । सुबह 9:00 बजे जब आप नाश्ता करते हैं उस समय आपके पेट की जठर अग्नि सबसे तेज होती है । उस समय यदि आप अलसी का सेवन करते हैं तो आपको उसके फायदे ज्यादा मिलेंगे ।

alsi ke nuksan

अलसी के नुकसान – alsi ke nuksan

इस बात में कोई दोराय नहीं है कि अलसी एक बहुत ही गुणकारी चीज है पर प्रकृति का यह नियम है कि यदि किसी चीज का जरूरत से ज्यादा उपयोग किया जाए तो उसके नुकसान भी होते हैं तो आइए जानते हैं कि यदि आप अलसी का सेवन ज्यादा करने लगेंगे तो इसके क्या-क्या नुकसान आपको झेलने पड़ सकते हैं ।

पेट खराब होना दरअसल अलसी में फाइबर की प्रचुर मात्रा होती है और यदि आप ज्यादा अलसी का सेवन करते हैं तो आपके पेट में फाइबर की मात्रा बढ़ जाती है जिसके कारण आपका पेट खराब हो सकता है और आपके पेट में गैस भी हो सकती है ।

इन लोगों को नहीं करना चाहिए अलसी का सेवन

1) लो ब्लड शुगर – वह लोग जिन्हें लो ब्लड शुगर की समस्या है उन्हें अलसी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह ब्लड शुगर लेवल को और भी कम कर देता है जो लो ब्लड शुगर के मरीजों के लिए घातक हो सकता है ।

2) लो ब्लड प्रेशर वह मरीज जिन्हें लो ब्लड प्रेशर की समस्या है उन लोगों को भी अलसी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि अलसी खून को पतला बनाता है और ब्लड प्रेशर को और भी कम करता है, जो लो ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए नुकसानदायक हो सकता है ।

Leave a Comment