हार्ट अटैक के लक्षण (symptoms), कारण और इससे बचने के 5 उपाय

भारत में हार्ट अटैक सबसे ज्यादा जान लेने वाली बीमारियों में से एक बन चुका है । एक स्टडी के मुताबिक बीते 25 वर्ष में हार्ट अटैक एवं हार्ट संबंधित बीमारियों से मरने वाले लोगों की संख्या लगभग दोगुनी हो चुकी है । भारत मे साल 1990 में लगभग 13 लाख लोग हर साल हार्ट अटैक एवं हार्ट संबंधित बीमारियों से मरते थे |

2016 के ताजा आंकड़ों के मुताबिक अब हर साल हार्ट अटैक की वजह से लगभग 28 लाख लोगों की मौत होती है जो एक बहुत ही बड़ी चिंता का विषय है । Healthkenuskhe के इस लेख में आज हम जानेंगे हार्ट अटैक के लक्षण क्या है, हार्ट अटैक के क्या कारण होते हैं और इससे बचने के लिए आप कौन से कदम उठा सकते हैं | तो आइए सबसे पहले जानते हैं हार्ट अटैक के लक्षण ।

हार्ट अटैक के लक्षण

हार्ट अटैक के लक्षण – heart attack Symptoms

1) बेचैनी – अगर आपको अचानक बेचैनी लगने लगे या आपका मन अशांत होने लग जाए तो यह हार्ट अटैक के होने का एक लक्षण माना जाता है इस अवस्था में यदि कहीं जगह मिले तो तुरंत बैठ जाए ।

2) सांस लेने में दिक्कत – अगर आपको अचानक से सांस लेने में दिक्कत आने लगे । शरीर में ऑक्सीजन की कमी होने लगे और आपकी सांस फूलने लगे तो यह भी हार्ट अटैक के आने का एक लक्षण होता है । ऐसा महसूस हो तो तुरंत किसी जगह पर बैठ जाए । ये हार्ट अटैक के लक्षण में से एक है |

3) ज़ोर-ज़ोर से सांस लेना – अगर आपकी सांस फूलने लगे और आप जोर-जोर से सांस लेने लगे तो यह भी हार्ट अटैक आने का एक संकेत एवं लक्षण माना जाता है ( हार्ट अटैक के लक्षण )

4) खांसी के दौरे – यदि आपको खांसी नहीं है, आपकी तबीयत ठीक थी और अचानक से आपको खांसी के दौरे आने लग जाए और आप जोर-जोर से हंसने लगे और आपकी खांसी ना रुके तो यह भी हार्ट अटैक का लक्षण हो सकता है ( हार्ट अटैक के लक्षण )

5) सीने में दर्द – जब अचानक से ह्रदय में खून की सप्लाई कम हो जाती है या धमनियों में ब्लॉकेज हो जाता है तो सीने में तेज दर्द उठता है । यह एक बड़ा लक्षण है कि आपको हार्ट अटैक हुआ है ।

6) चक्कर आना – कई बार धमनियों में ब्लॉकेज होने के कारण दिमाग तक सही मात्रा में ऑक्सीजन नहीं पहुंचता है जिसके कारण दिमाग सही से काम नहीं करता और चक्कर आने लगता है । ये लक्षण भी हार्ट अटैक के लक्षण में से एक है ( हार्ट अटैक के लक्षण ) |

7) सूजन – जब शरीर के अंदर धमनियों में जगह-जगह पर ब्लॉकेज हो जाते हैं तब पूरे शरीर में खून का बहाव काफी कम हो जाता है जिसके कारण कई जगहों पर सूजन आने लग जाती है, खासकर पैरों में सूजन आ जाती है और पैर फूलने लगते हैं । यह भी हार्ट अटैक के आने का एक बड़ा संकेत माना जाता है ।

8) जी मचलना – अगर आपकी तबीयत ठीक है और अचानक आपको उल्टी जैसा महसूस हो रहा है या बार-बार आपका जी मचल रहा है । अचानक सीने में दर्द हो रहा है, बेचैनी हो रही है तो भी यह भी हार्ट अटैक के आने का एक संदेश हो सकता है। ये भी हार्ट अटैक के लक्षण में से एक है |

9) तेज़ पसीना आना – कई बार जब हार्ट अटैक आने वाला होता है तो धमनियों में ब्लॉकेजेस होने के कारण शरीर का तापमान बढ़ने लग जाता है जिसके रिएक्शन में शरीर अपने आपको ठंडा करने के लिए पसीना छोड़ने लग जाता है । यदि आपको बिना कारण तेज पसीना अचानक से आना शुरू हो जाए और आपको बेचैनी महसूस होने लगे तो यह भी हार्ट अटैक के आने का एक लक्षण हो सकता है ( हार्ट अटैक के लक्षण )

10) शरीर के दूसरे हिस्सों में दर्द जैसे कि हाथ – यदि आपके शरीर के दूसरे हिस्सों में जैसे कि बाएं हाथ में या गले में या छाती में अचानक से तेज दर्द उठे और लंबे समय तक रहे तो यह भी हार्ट अटैक के आने का एक लक्षण माना जा सकता है ( हार्ट अटैक के लक्षण )

heart attack ke karan

हार्ट अटैक के कारण – heart attack ke karan

1) बढ़ती उम्र – जैसे-जैसे उम्र बढ़ती चली जाती है । शरीर में DHT नाम का हार्मोन पैदा होना शुरू हो जाता है । धीरे-धीरे शरीर की कोशिकाएं भी बूढ़ी होने लग जाती है जिसके कारण दिल, गुर्दे, फेफड़े, किडनी भी कमज़ोर होने लगते हैं ( heart attack ke karan ) । ऐसी अवस्था में यदि ज्यादा टेंशन लिया जाए या ज्यादा भागदौड़ की जाए और ब्लड प्रेशर भी बढ़ जाए तो हार्ट अटैक होने की संभावना बढ़ जाती है ।

2) हाई कोलेस्ट्रॉल – जिस प्रकार का खानपान आज की जनरेशन का हो चुका है । लोग ज्यादा जंक फूड और फास्ट फूड का सेवन करने लगे हैं जिसमें खराब क्वालिटी के तेल का इस्तेमाल होता है जिसमें बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत ज्यादा होती है । यह बैड कोलेस्ट्रॉल धीरे-धीरे आपके खून में प्रवेश कर जाता है और खून से आपकी धमनियों में ब्लॉकेज बना देता है जिसके कारण आपके दिल में खून जाना बंद हो जाता है और हार्ट को कॉलेप्स कर जाता है ।

3) डायबिटीज जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या होती है उन लोगों में हार्ट अटैक होने की संभावना 25% तक ज्यादा होती है । इसका कारण है कि उनके खून में शुगर की मात्रा का ज्यादा होना । ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से उनका ब्लड प्रेशर काफी बढ़ जाता है और ब्लड प्रेशर बढ़ने के कारण हार्ट अटैक की समस्या होना आम बात हो जाती है ( heart attack ke karan ) 

4) स्टेस/टेंशन – अगर आप ज्यादा स्ट्रेस भरी जिंदगी जीते हैं और ज्यादातर समय टेंशन में रहते हैं तो आपके खून में कोर्टिसोल नाम का एक हार्मोन ज्यादा बनने लग जाता है जिसके कारण यह आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ा देता है और आपका हाई ब्लड प्रेशर आपके दिल को कॉलेप्स भी कर सकता है । पढ़ें – Tension free tips in hindi |

5) अधिक सोयाबीन के तेल का इस्तेमाल – एक खुफिया रिपोर्ट में यह बात सामने आई थी कि जब से भारत में विदेशी कंपनियों ने सोयाबीन के तेल को बेचना शुरू किया भारत में हार्ट अटैक के मरीज भी बढ़ते चले गए पर इस रिपोर्ट को बड़ी कंपनियों के द्वारा दबा दिया गया ।

आज से 100 वर्षों पहले जब भारत में सरसों तेल, नारियल तेल, जैतून का तेल आदि जैसे तेलों का सेवन हुआ करता था । उस समय भारत में हार्ट अटैक जैसी बीमारी नहीं हुआ करती थी पर पिछले 70 सालों में सोयाबीन के तेल के आने के बाद ही हार्ट अटैक की समस्याएं बढ़ी है इसलिए अगर मुमकिन हो सके तो सोयाबीन के तेल का इस्तेमाल करना छोड़ दें । जानिए – Soyabean ke fayde |

6) धूम्रपान – हार्ट अटैक के होने का एक बड़ा कारण धूम्रपान भी माना जाता है वह इस तरह की जब आप धूम्रपान करते हैं तो इसके धुएं के कारण आपका फेफड़ा दूषित होने लग जाता है और संक्रमित होने लगता है । आपके फेफड़े के बगल में ही आपका दिल होता है जिसके कारण यह संक्रमण आपके दिल की कोशिकाओं में भी फैलता है और आपका दिल कमजोर होना शुरू हो जाता है जिसके कारण थोड़ी सी भी ज्यादा टेंशन या हाई ब्लड प्रेशर होने पर दिल का दौरा पड़ सकता है ( heart attack ke karan )

7) फैमिली हिस्ट्री – जिन लोगों की फैमिली हिस्ट्री हार्ट अटैक की रही है उन लोगों को हमेशा दिल के दौरे से डर के ही रहना चाहिए । ऐसे लोगों को अपनी डाइट एवं अपने दिनचर्या पर खास ध्यान देना चाहिए । एक रिसर्च में यह बात सामने आई थी कि जिन लोगों की फैमिली हिस्ट्री हार्ट अटैक की रही है उन लोगों में हार्ट अटैक होने की संभावना 25% तक ज्यादा होती है ।

8) हाइपरटेंशन – हाइपरटेंशन यानी कि हाई ब्लड प्रेशर जो आज के समय में एक बड़ी समस्या बनी हुई है । हाइपरटेंशन के कारण हार्ट स्ट्रोक एवं पैरालिसिस जैसी बड़ी बीमारियां पैदा हो जाती है इसलिए भी ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखना बहुत ही जरूरी होता है । इसे नियंत्रण में रखने के लिए समय-समय पर अपने ब्लड प्रेशर की जांच करते रहे एवं ज्यादा नमक का सेवन ना करें |

9) मोटापा – अगर आपका मोटापा बढ़ेगा तो आपके खून में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ेगी । यदि आपके खून में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ेगी तो आपकी धमनियों में ब्लॉकेज होगा । ब्लॉकेज के कारण खून रुकेगा और आपके दिल तक सही मात्रा में खून नहीं पहुंच पाएगा जिसके कारण आपको हर्ट अटैक आ सकता है इसलिए अपने मोटापे को बढ़ने ना दें ( heart attack ke karan ) । पढ़ें – Motapa kam karne ke upay |

10) अधिक कसरत – प्रकृति का एक नियम है कि किसी अच्छी चीज का प्रयोग भी यदि जरूरत से ज्यादा होने लगे तो उसके दुष्परिणाम भोगने पड़ते हैं । उसी प्रकार अधिक कसरत करना भी आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है और आपको हार्ट अटैक की समस्या हो सकती है । इसलिए जितना जरूरी है उतनी ही कसरत करें और बीच-बीच में ब्रेक अवश्य लें।

11) HIV पॉजिटिव – यह एक बहुत ही विवादित मुद्दा है पर एक रिसर्च में यह बात सामने आई थी कि एचआईवी पॉजिटिव मरीजों को हार्ट अटैक होने का खतरा 50% ज्यादा होता है क्योंकि उनका इम्यून सिस्टम पूरी तरह से कमजोर हो चुका होता है और उनका दिल भी कमजोर हो जाता हैं जिसके कारण छोटे से भी झटके की वजह से हार्ट अटैक आ सकता है ।

हार्ट अटैक आ जाने पर तुरंत करें ये उपाय – heart attack tips in hindi

1) जब किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक आए तो वह मरीज अचानक से बेहोश होने लगता है । अपने सीने को पकड़कर जमीन पर गिरने लग जाता है और उसकी सांसे भी बंद होने लग जाती है ।बउसका शरीर पसीने से तरबतर हो जाता है । इस परिस्थिति में आपको समझ जाना चाहिए कि उस व्यक्ति को हार्ट अटैक आया है ( heart attack tips in hindi )

2) यदि उस व्यक्ति को तुरंत CPR दिया जाए तो वह मरीज बच सकता है । CPR देने के लिए आप उस मरीज की छाती पर अपने दोनों हाथों को रख कर जोर से उसकी छाती बार-बार दबाए । ऐसा करने से उसका दिल फिर से एक्टिव हो सकता है और उसे बचाने के लिए हमें और भी समय मिल सकता है । CPR से जब मरीज होश में आने लगे तो उसे तुरंत ट्रीटमेंट की जरूरत होती है पर आपको तुरंत बिना देर किए उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती करना चाहिए ।

3) हार्ट अटैक कोई छोटी-मोटी बीमारी नहीं है जिसे तुरंत कुछ नुस्खों से ठीक किया जा सके इसके लिए आपको डॉक्टर्स की और दवाइयों की ही मदद चाहिए होगी और मरीज़ को जितना जल्दी हो सके हॉस्पिटल में भर्ती कराना चाहिए पर यदि आप चाहते हैं कि आपको हार्ट अटैक जैसी बीमारी ना हो और आप इससे बचे रहें तो आपको नीचे बताए गए कुछ उपाय जरूर ध्यान में रखने चाहिए ( heart attack tips in hindi )

हार्ट अटैक से बचने के उपाय

हार्ट अटैक से बचने के उपाय – heart attack se bachne ke upay

अगर आप चाहते हैं कि आपको हार्ट अटैक जैसी बीमारी ना हो तो इसके लिए आपको सबसे पहले अपने खान-पान और अपनी दिनचर्या में थोड़ा बदलाव करना होगा आपको अपनी डाइट में उन चीजों को शामिल करना होगा जिसमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम से कम हो और आपको कसरत एवं योग भी अपनी दिनचर्या में शामिल करनी होगी तो आइए विस्तार से जानते हैं कि हार्ट अटैक से बचने के लिए आप क्या-क्या कर सकते हैं ।

1) स्वस्थ भोजन – आपको ज्यादातर हरी पत्तेदार सब्जियां, डालें, अनाज, फल और ड्राई फ्रूट्स का सेवन करना चाहिए आपको बाहर का जंक फूड और ज्यादा तली भुनी चीजों का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए इससे आपके खून में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है ( हार्ट अटैक से बचने के उपाय )

2) सोयाबीन का तेल – एक स्टडी में यह बात सामने आई थी कि जब से भारत में सोयाबीन के तेल का इस्तेमाल बढ़ा है तब से भारत में हार्ट अटैक की समस्या भी बढ़ गई है इसलिए कोशिश करें कि आप सोयाबीन के तेल का इस्तेमाल छोड़ दें इसकी जगह सरसों का तेल, ऑलिव ऑयल या नारियल के तेल का इस्तेमाल करें ( हार्ट अटैक से बचने के उपाय )

3) खुश रहे – ज्यादा भागदौड़ भरी जिंदगी, थकान, टेंशन इन चीजों का भी आपके दिल पर काफी गहरा असर पड़ता है । यदि आप हमेशा तनाव में रहते हैं तो यह आपके शरीर में कॉर्टिसोल की मात्रा को बढ़ाता है जिसका दुष्प्रभाव आपके दिल पर पड़ता है इसलिए खुश रहने की कोशिश करें अगर आप दिल के दौरे से नहीं मरना चाहते ।

4) पैदल चलें – एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि यदि आप रोज़ पैदल चलते हैं तो इसका सकारात्मक प्रभाव आपके दिल पर पड़ता है आपके खून में बैड कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड कम हो जाता है और आपको हार्ट अटैक होने की संभावना 23% तक कम हो जाती है इसलिए कम से कम रोज 2 किलोमीटर पैदल चलने की जरूर कोशिश करें यह आपके मोटापे को भी कम करेगा ( heart attack se bachne ke upay )

5) योग – योग आयुर्वेद का दिया हुआ एक ऐसा वरदान है जो मनुष्य के शरीर को निरोग बनाए रखता है । यदि आप रोज सूर्य नमस्कार, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी और कपालभाति जैसे योग करेंगे तो आप दिल के दौरे एवं कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों से बचे रहेंगे ( heart attack se bachne ke upay )

Leave a Comment

close