लो ब्लड प्रेशर के लक्षण, इसके 10 कारण और इलाज – low bp symptoms, reasons and treatment

ब्लड प्रेशर ( रक्तचाप ) क्या होता है – low blood pressure in hindi ?

ब्लड प्रेशर जिसे हिंदी में रक्तचाप भी कहा जाता है । रक्तचाप का अर्थ होता है शरीर के अंदर रक्त के प्रवाह की गति जो यदि सही गति से ना चल रही हो तो इसका नुकसान शरीर को झेलना पड़ सकता है । आज की भागदौड़ भरी जिंदगी, स्ट्रेस एवं फास्ट फूड और अनियमित दिनचर्या की वजह से ब्लड प्रेशर के मरीज दिन प्रतिदिन विश्व में बढ़ते ही चले जा रहे हैं । आज हम जानेंगे लो ब्लड प्रेशर के लक्षण, कारण और इलाज |

हालांकि कई लोगों को यह बीमारी काफी मामूली लगती है पर आपको बता दें कि ब्लड प्रेशर की बीमारी आपको हार्टअटैक, पैरालाइसिस और किडनी से संबंधित बीमारियों का कारण बन सकती है । पढ़ें – हाई ब्लड प्रेशर के बारे में सबकुछ |

ब्लड प्रेशर के प्रकार – types of blood pressure

1) हाइपरटेंशन / हाई ब्लड प्रेशर हाई ब्लड प्रेशर जिसे हिंदी में उच्च रक्तचाप कहा जाता है इसका अर्थ होता है कि यदि ब्लड प्रेशर का आंकड़ा 120/80 से ज्यादा हो तो इस परिस्थिति में माना जाता है कि आपका ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ है और आप एक हाइपरटेंशन/हाई ब्लड प्रेशर के मरीज हैं ।

2) हाइपोटेंशन / लो ब्लड प्रेशर – लो ब्लड प्रेशर जिसे हिंदी में कम रक्तचाप भी कहा जाता है इसका अर्थ होता है कि यदि ब्लड प्रेशर का आंकड़ा 120/80 से कम हो तो इस परिस्थिति में माना जाता है कि आपका ब्लड प्रेशर कम है और आप एक लो हाइपोटेंशन/ब्लड प्रेशर के मरीज हैं । आज हम लो ब्लड प्रेशर के लक्षण, कारण और इलाज के बारे में जानेंगे |

लो ब्लड प्रेशर के लक्षण

लो ब्लड प्रेशर के लक्षण – low blood pressure symptoms in hindi

1) चक्कर आना या भारीपन महसूस होना – जब किसी व्यक्ति का ब्लड प्रेशर लो हो जाता है तो उसे चक्कर आने शुरू हो जाते हैं या शरीर भारी-भारी लगता है । कई बार यदि आप धूप में निकलते हैं तो लो ब्लड प्रेशर होने के कारण आपको चक्कर खाकर गिर जाते हैं यह लक्षण दर्शाता है कि आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है ( लो ब्लड प्रेशर के लक्षण )

2) बेहोशी – अगर आप कहीं पर बैठे-बैठे बेहोश हो जाते हैं या चलते-चलते बेहोश हो जाते हैं या कोई ज्यादा जोर का झटका या डर आपको लगे तो आप तुरंत बेहोश हो जाते हैं तो यह भी लो ब्लड प्रेशर के होने का एक लक्षण हो सकता है इसलिए आपको तुरंत अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवानी चाहिए ।

3) धुंधली दृष्टि होना – कई मामलों में लो ब्लड प्रेशर होने के कारण आंखें धुंधली पड़ने लगती है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ब्लड प्रेशर लो होने के कारण शरीर के हर हिस्से में सही समय पर और सही मात्रा में खून नहीं पहुंच पा रहा होता और आंखें शरीर के सबसे ऊपरी भाग में होती है और जहां तक पहुंचने में खून को गुरुत्वाकर्षण के बल का सामना करना पड़ता है इसलिए यदि आपको ऐसा लक्षण दिखाई पड़े तो आपको तुरंत अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवानी चाहिए । ये भी पढ़ें – Home remedies for eyesight improvement |

4) जी मचलाना – कई बार लो ब्लड प्रेशर के मरीजों को उल्टी आती है और जी मचलता है गर्भावस्था के समय भी जी मचलता है और उल्टी आती है क्योंकि गर्भावस्था के समय कई बार महिलाओं में ब्लड प्रेशर लो हो जाता है और यदि आपको भी बिना वजह उल्टी आने जैसा महसूस हो तो आपको अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवा लेनी चाहिए । ये लो ब्लड प्रेशर के लक्षण में से एक है ।

5) थकान महसूस होना – 40 की उम्र तक शरीर की क्षमता और ताकत बढ़ती रहती है पर 40 की उम्र के बाद धीरे-धीरे शरीर की क्षमता घटती चली जाती है पर यदि आप सही से खाना खाते हैं और सही से आराम करते हैं फिर भी आपको थका थका महसूस होता है तो यह लक्षण आपके लो ब्लड प्रेशर के हो सकते हैं इसलिए आपको अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवा लेनी चाहिए ।

6) डिप्रेशन – यदि आप बहुत ही मायूस महसूस करते हैं और आपको काम करने के लिए या किसी भी प्रकार का मोटिवेशन महसूस नहीं होता यदि आप किसी दुख के कारण हमेशा डिप्रेशन में रहते हैं इस डिप्रेशन से बाहर निकलने की कोशिश भी करते हैं फिर भी आपको कामयाबी नहीं मिल रही है तो ये लो ब्लड प्रेशर के लक्षण में से एक है । इसलिए आपको तुरंत अपनी जांच करवानी चाहिए |

7) ध्यान की कमी होना – अगर आप किसी काम में मन नहीं लगा पा रहे और आपको बेचैनी महसूस होती है तो यह भी लो ब्लड प्रेशर का एक लक्षण हो सकता है इसलिए तुरंत अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवाएं | ये भी लो ब्लड प्रेशर के लक्षण में से एक है ।

8) छाती में दर्द – ब्लड प्रेशर लो होने के कारण कई बार छाती में जलन होनी शुरू हो जाती है यदि आपका पेट खराब हो और आपको गैस की समस्या हो इस परिस्थिति में भी छाती में जलन स्वाभाविक सी बात है पर यदि आपका पेट ठीक है और फिर भी आपको छाती में जलन जैसा महसूस होता है तो ये लो ब्लड प्रेशर के लक्षण में से एक है । इसलिए तुरंत अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवाएं ।

9) अधिक प्यास लगना ( लो ब्लड प्रेशर के लक्षण ) – गर्मियों के मौसम में प्यास लगना एक स्वाभाविक सी बात है पर यदि आपको किसी भी मौसम में जल्दी-जल्दी प्यास लग रही है तो यह लक्षण ठीक नहीं है और इस लक्षण से पता चलता है कि आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या है इसलिए आपको अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवा कर जरूर देखना चाहिए ।

10) तेज़ साँसें – कई बार शरीर में खून का प्रवाह धीमा होने के कारण शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई धीमी हो जाती है जिसके कारण सांसे तेज हो सकती है । सांसे अचानक से तेज हो जाना लो ब्लड प्रेशर के लक्षण में से एक है ।

11) त्वचा में पीलापन – अगर आपकी त्वचा पीली पड़ गई है या आपकी त्वचा मैं पीलापन आपको महसूस होता है तो यह जॉन्डिस का एक लक्षण माना जाता है पर अगर वह पीलापन जॉन्डिस कारण नहीं है तो यह शरीर में खून की कमी या लो ब्लड प्रेशर का लक्षण भी हो सकता है ( लो ब्लड प्रेशर के लक्षण )

12) शरीर ठंडा पड़ जाना – ब्लड प्रेशर लो होने के कारण शरीर में रक्त प्रवाह की गति बहुत ही धीमी होती है जिसके कारण शरीर में ऊर्जा कम बनती है और इस वजह से शरीर ठंडा भी पड़ जाता है यदि ऐसा लक्षण आपको महसूस हो तो आपको तुरंत अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवानी चाहिए ( लो ब्लड प्रेशर के लक्षण ) |

bp low hone ke karan

लो ब्लड प्रेशर होने के कारण – bp low hone ke karan

1) खून की कमी – कई बार यदि शरीर में खून की कमी हो तो यह लो ब्लड प्रेशर का एक बड़ा कारण बन सकती है जैसे कि यदि आपको कोई बहुत बड़ी चोट लगी है और जिसके कारण आपका काफी खून बहा है तो इस वजह से शरीर में खून की कमी हो जाती है और ब्लड प्रेशर भी कम हो जाता है जो एक बेहद खतरनाक परिस्थिति मानी जाती है |

2) पोषण की कमी – कई बार खाने पीने पर विशेष ध्यान ना देना और शरीर में पोषण की कमी की वजह से भी शरीर में खून कम बनता है और खून की डेंसिटी जितनी होनी चाहिए उतनी नहीं होती जिसके कारण लो ब्लड प्रेशर की समस्या सामने आती है इसलिए आपको अपने खाने पीने पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए |

3) ह्रदय सम्बंधित कोई रोग – कई लोगों को ह्रदय से संबंधित बीमारियों के कारण भी लो ब्लड प्रेशर की समस्या होती है जैसे कि यदि किसी का दिल धीरे धड़कता है तो यह लाजमी सी बात है कि उसका ब्लड प्रेशर भी कम ही होगा कई बार यह बीमारी वंशानुगत भी हो सकती है ।

4) थायराइड यदि आप थायराइड की बीमारी से ग्रस्त है तो इस परिस्थिति में भी आपका ब्लड प्रेशर कम पड़ सकता है कई थायराइड के मरीजों में ब्लड प्रेशर कम होने की शिकायत अक्सर आती रहती है ।

5) डायबिटीज – डायबिटीज के मरीजों को भी लो ब्लड प्रेशर जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है इसलिए डायबिटीज के मरीजों को मीठे का सेवन कम करना चाहिए और अपनी डाइट पर विशेष ध्यान देना चाहिए | पढ़ें – Diabetes in hindi |

6) तनाव – ब्लड प्रेशर की लो होने का एक बड़ा कारण होता है तनाव आपने खुद भी यह महसूस किया होगा कि जब आपके ऊपर किसी काम का या किसी बात का तनाव होता है तो आप बहुत ही मायूस महसूस करते हैं और आपको किसी और चीज में मन नहीं लगता क्योंकि तनाव की वजह से आपका ब्लड प्रेशर कम हो जाता है इसलिए तनाव से दूर रहने की कोशिश करें ।

7) दुःख या सदमा – दुख किसके जीवन में नहीं होता पर कई बार यदि किसी अपने की अकस्मात मृत्यु हो जाए या बिजनेस में कोई बड़ा घाटा हो जाए या कोई बड़ा सदमा लग जाए तो इस परिस्थिति में भी लोगों को झटका लगता है जिसके कारण उनका ब्लड प्रेशर लो हो जाता है और कई बार तो परिस्थिति इतनी खराब हो जाती है कि लो ब्लड प्रेशर की वजह से उस इंसान की जान भी चली जाती है इसलिए आपको ज्यादा दुखी और मायूस नहीं रहना चाहिए और यह भी आपके परिवार में कोई ज्यादा दुखिया मायूस है तो उसे अकेला ना छोड़ें ।

8) गर्भावस्था – गर्भावस्था के समय में अक्सर यह देखा गया है कि महिलाओं का ब्लड प्रेशर कम होने लग जाता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शरीर के अंदर तेजी से सर्कुलेटरी सिस्टम का विस्तार होने लग जाता है जिसके कारण खून की कमी होती है और ब्लड प्रेशर कम होने लग जाता है इसलिए गर्भावस्था के समय महिलाओं को अपने खाने-पीने का विशेष ध्यान रखना चाहिए ताकि शरीर में खून की कमी ना होने पाए |

9) पानी की कमी – अगर आप पानी का सेवन कम करते हैं और शरीर में पानी की कमी हो जाती है तो इस वजह से भी आपका ब्लड प्रेशर कम हो सकता है इसलिए 1 दिन में कम-से-कम से कम 3 लीटर पानी अवश्य पिएं पानी सही मात्रा में पीने से ना सिर्फ आपका ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है सही मात्रा में पानी पीने से कई और भी समस्याएं ठीक हो जाती है । जानिए – गर्म पानी पीने के फायदे |

10) दवाइयों के कारण – यदि आप किसी भी स्वास्थ्य से संबंधित समस्या से जूझ रहे हैं और उसके लिए अंग्रेजी दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो इस परिस्थिति में भी आपका ब्लड प्रेशर लो पड़ सकता है ।

low blood pressure treatment in hindi

लो ब्लड प्रेशर को ठीक करने के उपाय – low blood pressure treatment in hindi

1) यदि आपको लगता है कि आपका ब्लड प्रेशर कम है और आपको कमजोरी महसूस हो रही है तो आप उसी समय एक कप स्ट्रांग कॉफी पी ले कॉफी में कैफीन होता है जो शरीर के ब्लड प्रेशर को बढ़ाने में आपकी सहायता करता है ।

2) 32 किशमिश के दाने रात में सोने से पहले एक साफ बर्तन में और साफ पानी में भिगोकर रख दें सुबह जब आप उठे तो वह किशमिश अच्छी तरह चबा चबाकर खाएं और उस पानी को पी लें ऐसा करने से आपका ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है ( low blood pressure treatment in hindi ) |

3) यदि आप एक लो ब्लड प्रेशर के मरीज हैं तो आपको रोज चाय में मुलेठी का पाउडर डालकर पीना चाहिए मुलेठी के सेवन से ब्लड प्रेशर बढ़ता है ।

4) लो ब्लड प्रेशर के मरीज यदि रूस आंवला के रस में शहद मिलाकर पीते हैं तो इससे ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है

5) यदि आप रोज रात में दूध में खजूर को उबालकर खाते हैं और उस दूध को पी जाते हैं तो इससे भी ब्लड प्रेशर को बढ़ाने में सहायता मिलती है

6) चुकंदर के रस को ब्लड प्रेशर को नियंत्रण करने का सबसे अच्छा नुस्खा माना जाता है क्योंकि इसमें आयरन एवं पोटेशियम की समृद्ध मात्रा पाई जाती है इस नुस्खे को इस्तेमाल करने के लिए आप रोज सुबह खाली पेट और शाम को खाली पेट में एक एक गिलास चुकंदर के रस का सेवन करना शुरू करें आपको बहुत फायदा होगा ।

7) छाछ में नमक, भुना हुआ जीरा और हींग मिलाकर इसका सेवन करने से भी लो ब्लड प्रेशर को नियंत्रण करने में काफी सहायता मिलती है ( low blood pressure treatment in hindi )

8) आधा चम्मच दालचीनी पाउडर को एक गिलास पानी में उबालकर इसे छान लें और सुबह खाली पेट में इसे पी जाएं रोज इस पानी का सेवन करने से लो ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है ।

9) तुलसी के 10 से 15 पत्तों का रस निकालने और उसे एक चम्मच शहद के रस के साथ खाली पेट सुबह खा ले ऐसा करने से लो ब्लड प्रेशर में काफी फायदा मिलता है । जानिए Tulsi ke fayde |

10) 7 बादाम को रात भर पानी में भिगोए और उसका छिलका उतारकर उसे पीस लें और दूध में थोड़ी देर उबाल लें और उस दूध को रात में सोने से पहले ही जाएं ऐसा करने से लो ब्लड प्रेशर के मरीजों को काफी फायदा मिलता है । जानिए Badam ke fayde |

कुछ ज़रूरी बातें – bp low treatment in hindi

1) सुबह उठने की आदत डालें और सुबह उठकर कसरत एवं व्यायाम करना शुरू करें यह आपके लो ब्लड प्रेशर को ठीक करने में आपकी सहायता करेगा ।

2) रोज़ कम से कम 3 से 4 लीटर पानी अवश्य पिएं शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखेगा।

3) यदि आप लो ब्लड प्रेशर के मरीज हैं तो आपको ज्यादा तनाव नहीं लेना चाहिए क्योंकि यह आपकी जान भी ले सकता है ।

4) ब्लड प्रेशर के मरीजों को हमेशा अपने परिवार वालों के साथ समय बिताना चाहिए और खुश रहने की कोशिश करनी चाहिए ऐसा करने से ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है ।

5) अगर मुमकिन हो तो ज्यादा अंग्रेजी दवाओं का सेवन ना करें क्योंकि यह भी आपके लो ब्लड प्रेशर की वजह बनते हैं ।

6) अगर आपके लिए मुमकिन हो तो ब्लड प्रेशर मापने वाली एक मशीन खरीद लें और रोज़ अपने ब्लड प्रेशर की जांच करें और अगर समस्या गंभीर हो तो बिना देर किए किसी अच्छे डॉक्टर से मिलें ।

Leave a Comment

close