लू लगने के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज

गर्मियों के दिनों में आपने कई बार इस बारे में सुना होगा कि किसी को धूप में ज्यादा देर रहने की वजह से लू लग गई यकीन मानिए यह बहुत ही खतरनाक चीज है जब कोई व्यक्ति ज्यादा लंबे समय तक किसी गर्म जगह पर या धूप में रहता है तो उस व्यक्ति को सनस्ट्रोक अर्थात लू लग सकती है । ऐसा ज्यादातर मार्च से लेकर जून के महीने के बीच में होता है ।

जब गर्मी अपने पूरे उफान पर होती है तब अगर लू लगे और उस व्यक्ति को तुरंत उपचार ना मिले तो उस व्यक्ति की मौत भी हो सकती है । इसलिए लू लगना है एक बहुत ही खतरनाक बात होती है इस लेख में हम जानेंगे लू लगने के कारण, लू लगने के लक्षण, और लू लगने पर घरेलू उपचार कैसे करें । अंत में हम आपको बताएंगे लू अथवा garmi se bachne ke upay । इसलिए अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि अधूरी जानकारी सेहत के लिए खतरनाक हो सकती है ।

ये भी पढ़ें – स्वस्थ जीवन जीने के लिए 25 हेल्थी टिप्स

लू लगना क्या होता है

लू लगना क्या होता है ?

हमारे शरीर के अंदर तापमान को कंट्रोल करने का एक सिस्टम बना हुआ होता है जब बाहर का वातावरण बहुत ज्यादा गर्म हो जाता है तो हमारा शरीर पसीने को निकालकर शरीर को ठंडा करने की कोशिश करता है पर जब वातावरण अत्यधिक गर्म होता है तो कई बार शरीर का यह सिस्टम collapse कर जाता है और शरीर जरूरत से ज्यादा गर्म हो जाता है जिसके कारण व्यक्ति बेहोश भी हो सकता है । वैज्ञानिक रूप से इसी अवस्था को लू लगना कहते है । आइए जानते है लू लगने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं ।

लू लगने के कारण

लू लगने के कारण

ऐसा कभी नहीं होता कि आप जैसे ही धूप में जाएंगे आपको लू लग जाएगी । इसके कई कारण हो सकते है, आइए उनके बारे में जान लेते है ।

  • बहुत ज्यादा तापमान वाले इलाके में जाना
  • भीषण आग के करीब जाना
  • कड़ी धूप में देर तक रहना
  • कड़ी धूप में देर तक मेहनत का काम करना
  • शरीर में डिहाइड्रेशन होना
  • गर्मी में भी अत्यधिक एल्कोहल का सेवन करना
  • गर्म और भीड़भाड़ वाले इलाके में जाना

लू लगने के लक्षण

लू लगने के लक्षण

कई बार लू लगने की वजह से लोग बेहोश हो जाते हैं ऐसे में यह पता करना कि वह व्यक्ति बेहोश क्यों हुआ है बहुत ज्यादा जरूरी हो जाता है । तो आइए जान लेते हैं कि लू लगने के क्या लक्षण होते है ।

  • शरीर का अत्यधिक गर्म हो जाना
  • होंठ का सूख जाना
  • दिल की धड़कन का तेज होना
  • सिर चकराना और सिर में दर्द होना
  • उल्टी होना या जी मचलना
  • बहुत अधिक प्यास लगना

लू लग जाने पर तुरंत क्या करना चाहिए

लू लग जाने पर तुरंत क्या करना चाहिए ?

अगर किसी व्यक्ति को लू लगी हो और वह बेहोश हो गया है तो उसे तुरंत किसी डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए और उसका इलाज कराने की कोशिश करनी चाहिए पर अगर उस व्यक्ति पर पानी छिड़कने से वह होश में आ जाता है और अगर उसकी हालत बहुत ज्यादा खराब नहीं है तो आप नीचे बताए गए तरीकों से लू लगने पर घरेलू उपचार कर सकते है ।

लू लगने पर घरेलू उपचार

लू लगने पर घरेलू उपचार

1) धनिये का पानी – धनिया की तासीर ठंडी होती है और यह शरीर को तुरंत ठंडा करने में काफी तेजी से मदद करता है अगर किसी व्यक्ति को लू लग चुकी है तो आप एक गिलास पानी में एक मुट्ठी धनिए को पीसकर उस पानी में घोलकर मरीज को पिला दे कुछ ही देर में उसके शरीर का तापमान कम होने लग जाएगा । बेहतर होगा कि आप धनिए के पत्ते का इस्तेमाल करें ।

ये भी पढ़ें – धनिया के फायदे, उपयोग और नुकसान

2) पुदीने का पानी – पुदीने की तासीर भी ठंडी होती है और इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं पुदीने का सेवन करने से तुरंत यह शरीर के temperature को नार्मल करने में मदद करता है पुदीने का इस्तेमाल करने के लिए आप पुदीने की 10 पत्तियां लेकर उसे पीस दें और एक गिलास ठंडे पानी में मिक्स करके मरीज को पिलाएं कुछ देर में उसे आराम मिलने लगेगा और उसके शरीर का तापमान भी कम हो जाएगा ।

ये भी पढ़ें – पुदीना के फायदे, उपयोग और नुकसान

3) प्याज का रस – आपने ऐसा कई बार सुना होगा कि गर्मियों में प्याज का सेवन करना चाहिए क्योंकि प्याज का सेवन करने से लू नहीं लगती । वैज्ञानिक रूप से इसमें काफी सच्चाई है दरअसल प्याज में कुछ ऐसे तत्व होते हैं जो शरीर को ठंडा रखने में मदद करते हैं । अगर आप प्याज का सेवन गर्मियों में करते हैं तो आपको लू लगने की संभावना काफी कम हो जाती है अगर किसी मरीज को लू लग चुकी है तो आप उसे प्याज का रस पिलाने की कोशिश करें । कुछ देर में मरीज को आराम मिलने लगेगा और शरीर का तापमान भी कम होने लग जाएगा ।

4) छाछ – छाछ को दही से बनाया जाता है छाछ की तासीर बेहद ठंडी होती है और गर्मियों में यह पेट को और पूरे शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है । इसीलिए गर्मियों में छाछ पीने की हिदायत दी जाती है अगर किसी मरीज को लग गया हो तो आप उस मरीज को चम्मच की मदद से छाछ मिलाने की कोशिश करें । कुछ देर में उसके शरीर का तापमान कम होने लगेगा ।

5) कच्चे आम का शर्बत – कच्चे आम का शरबत लू से बचने और लू लगे मरीज को तुरंत ठीक करने में काफी कारगर माना जाता है । इसे बनाने के लिए आप कच्चे आम को गैस पर कुछ देर के लिए पकाए और जब यह अच्छी तरह पक जाए तो इस के गूदे पानी में मिक्स करके इसका शरबत बना ले और मरीज को इस शरबत को पिलाएं काफी तेजी से शरीर का तापमान कम होने लग जाएगा और वह मरीज भी ठीक होने लगेगा आप चाहे तो इस शरबत से उस मरीज को स्नान भी करवा सकते हैं इससे तापमान जल्दी से कम होने लग जाता है ।

6) तुलसी – तुलसी एक एंटीबैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व माना जाता है साथ ही इस की तासीर ठंडी होती है जिसके कारण यह यू लगे हुए मरीज को ठीक करने में मदद कर सकता है इसका इस्तेमाल करने के लिए आप तुलसी की 10 पत्तियां लें और उसे पीसकर एक गिलास पानी में मिलाकर उस मरीज को पिलाएं कुछ देर में तुलसी के प्रभाव से शरीर का तापमान कम होने लगेगा और मरीज ठीक हो जाएगा ।

ये भी पढ़ें – तुलसी के फायदे

7) ठंडे पानी से स्नान – लू लगे हुए मरीज को ठंडे पानी से नहलाने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि तुरंत ठंडे पानी से नहलाने से शरीर का तापमान अचानक से कम हो जाता है जिसके कारण मरीज अच्छा महसूस करता है और कुछ ही देर में ऊपर बताए गए नुस्खों से ठीक होने लग जाता है हालांकि आप उस ठंडे पानी में बर्फ डालने की कोशिश बिल्कुल ना करें ।

8) एसेंशियल आयल – एसेंशियल ऑयल ऐसे प्रकार के तिल होते हैं जिन की तासीर ठंडी होती है जैसे कि नीम का तेल या पुदीने का तेल इस दिल को मरीज के ठंडे पानी से स्नान करने के बाद लगाने से शरीर का तापमान कम होता है और मरीज को भी अच्छा महसूस होने लगता है एसेंशियल ऑयल से मसाज करने के बाद मरीज के शरीर में जान आ जाती है और वह तरोताजा महसूस करने लगता है ।

9) सेब का सिरका – सेब का सिरका शरीर के तापमान को नियंत्रण में रखने में काफी फायदेमंद माना जाता है इसके लिए आप ठंडे पानी में सेब का सिरका मिलाएं और उस ठंडे पानी से मरीज को नहलाये आप देखेंगे कि उसके शरीर का तापमान काफी तेजी से कम होगा और मरीज की स्थिति काफी सुधारने लगेगी ।

ये भी पढ़ें – सेब के फायदे और नुकसान

10) चंदन का लेप – अगर किसी मरीज के शरीर का तापमान ऊपर बताए गए किसी भी नुस्खे से कम नहीं हो रहा है तो आप सिर्फ चंदन का लेप उसके पूरे शरीर में लगाएं और उस चंदन के लेप को 1 से 2 घंटे तक रहने दे चंदन की तासीर ठंडी होती है और यह गर्मी को अपने अंदर सोख लेता है चंदन के प्रभाव से शरीर का तापमान काफी ठंडा हो जाएगा और उस मरीज की तबीयत भी बिल्कुल ठीक हो जाएगी या नुस्खा थोड़ा महंगा है पर बहुत ही कारगर साबित होता है ।

garmi se bachne ke upay

लू से बचने के उपाय / garmi se bachne ke upay

1) अपने शरीर को हाइड्रेटेड रखें और पानी पीते रहें क्योंकि शरीर में पानी की कमी से लू लगने की संभावना बढ़ जाती है ।

ये भी पढ़ें – गर्म पानी पीने के फायदे

2) गर्मियों के दिनों में ठंडी चीजों का सेवन जैसे की छाछ, दही, फलों का रस आदि का सेवन करते रहना चाहिए ताकि आपके शरीर का तापमान नियंत्रण में रहे ।

3) धूप में जब भी निकले तो टोपी या स्कार बांध लें ताकि धूप डायरेक्ट आपके शरीर पर ना पड़े और धूप का ज्यादा प्रभाव आपके शरीर पर ना हो ।

4) गर्मियों में ज्यादा टाइट कपड़े ना पहने हमेशा गर्मियों के दौरान ढीले ढाले और सूती के कपड़े पहने ताकि आपके शरीर का इंसुलेशन अच्छे से होता रहे ।

5) कड़ी धूप में काम या एक्सरसाइज ना करें इससे भी लू लगने का खतरा बना रहता है ।

6) गर्मियों के दिनों में उन जगहों पर बिल्कुल ना जाए जहां आग लगी हो क्योंकि वहां का तापमान बहुत ज्यादा होता है ।

7) हर दिन रात में 7 से 8 घंटे की पूरी नींद लें और एक्सरसाइज करें और अच्छा भोजन करें ताकि आपका शरीर अंदर से भी मजबूत बने ।

ये लू से बचने के उपाय बहुत ही काम के उपाय है और अगर आप इनका पालन करेंगे तो आपको लू लगने की संभावना कम हो जाएगी और आप स्वस्थ जीवन जी पाएंगे ।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हीट स्ट्रोक यानी कि लू से जुड़ी सारी जानकारी मिल चुकी होगी अगर अब भी आपका कोई सवाल मन में है तो comment box में जरूर पूछें, हमारी टीम आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेगी और अगर आप चाहते हैं कि हमारे अगले पोस्ट की notification आप तक पहुंचे तो हमारी website healthkenuskhe.com को अभी subscribe कर ले आपका दिन शुभ हो, धन्यवाद ।

Leave a Comment