कैंसर के लक्षण, कारण और इलाज – Cancer ke lakshan, karan aur ilaj

कैंसर आपने भी इस बीमारी के बारे में बहुत बार सुना होगा और आप इस बीमारी से डरते भी होंगे और डरना भी चाहिए क्योंकि आज यह एक बहुत बड़ी महामारी बन चुकी है और लाखों लोग हर साल इस बीमारी के कारण मरते है । युवराज सिंह जो इंडियन क्रिकेट टीम के जाने-माने खिलाड़ी रह चुके है उनका कैरियर कैंसर के कारण खत्म हो गया, इरफान खान जो बॉलीवुड के बहुत बड़े सितारे थे उनकी जान भी कैंसर के कारण गई ।

यही नहीं लिस्ट बहुत लंबी है इसलिए आपको कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के बारे में ज्ञान अवश्य होना चाहिए । आज Healthkenuskhe के इस लेख में आप जानेंगे कैंसर के लक्षण ( cancer symptoms in hindi ), कैंसर के कारण और इससे बचने के उपाय । साथ ही साथ हम जानेंगे कि cancer ka ilaj क्या है । इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि अधूरी जानकारी सेहत के लिए खतरनाक हो सकती है ।

कैंसर क्या है

कैंसर क्या है – What is cancer in hindi ?

कैंसर एक बीमारी नहीं बल्कि एक बहुत बड़ी बीमारी है और हर साल पूरी दुनिया में 6 लाख से भी ज्यादा लोगों की जान कैंसर के कारण जाती है । कैंसर के लक्षण ( cancer ke lakshan ) होते है कई है । कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसमें किसी अंग में बिना किसी नियंत्रण के कोशिकाएं विभाजित होने लग जाती है । यह कैंसर कोशिकाएं अन्य कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचाती है ।

जब कैंसर लास्ट स्टेज तक पहुंच जाता है तो यह उस अंग को ही निष्क्रिय कर देता है, जिसके कारण उस व्यक्ति की जान चली जाती है । कैंसर के 100 से भी अधिक प्रकार होते हैं । ज्यादातर कैंसर के नाम उस अंग या कोशिकाओं के नाम पर रखे जाते हैं, जैसे कि पेट में होने वाले कैंसर को स्टमक कैंसर कहते हैं, वहीं त्वचा में होने वाले कैंसर को स्किन कैंसर कहा जाता है । तो चलिए अब जानते है cancer ke lakshan

कैंसर के लक्षण

कैंसर के लक्षण – Cancer symptoms in hindi

1) अत्यधिक थकान – शरीर में यदि आपको अत्यधिक थकान होने लगी है तो इसका कारण ब्लड प्लेटलेट्स या लाल रक्त कोशिकाओं में गड़बड़ी भी हो सकती है । जिससे ल्यूकेमिया का भी खतरा बना रहता है । इसलिए अत्यधिक थकान होना खतरे की घंटी भी हो सकती है और इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए । ये cancer ke lakshan में से एक है

2) बेवजह वजन घटना – यदि बेवजह आपका वजन कम हो रहा है तो इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए यह डायबिटीज या कोलोन कैंसर की चेतावनी भी हो सकती है । यही नहीं अचानक से वजन का घटना पाचन तंत्र के कैंसर के होने का भी संकेत हो सकता है या लिवर कैंसर का भी संकेत हो सकता है, इसलिए आपको इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए ।

3) कमजोरी – काम और मेहनत करने के बाद थकान होना एक आम बात है और नींद लेने और आराम करने से इस थकान और कमजोरी को दूर भी किया जा सकता है पर यदि नींद लेने के बाद भी आपको थका थका महसूस हो या कमजोरी महसूस हो तो इसे नजरअंदाज करना आपकी गलती हो सकती है । इसलिए डॉक्टर से जरूर मिले क्योंकि ये कैंसर के लक्षण में से एक हो सकता है ।

4) फोड़ा या गांठ – यदि शरीर के किसी हिस्से में फोड़ा हो जाए या गांठ हो जाए और इलाज करवाने पर भी ठीक ना हो तो यह स्किन कैंसर के होने का संकेत हो सकता है इसलिए इसे गंभीरता से लें और डॉक्टर से तुरंत मिले । ये भी cancer ke lakshan में से एक है

5) सीने में दर्द और कफ – यदि आपको लंबे समय से कफ की समस्या है और सीने में दर्द रहता है तो यह लंग कैंसर या ब्रोंकाइटिस जैसी बीमारी का लक्षण हो सकता है । लंग कैंसर होने के बाद छाती में दर्द रहता है और यह दर्द बाहों और कंधे पर भी फैल जाता है । ये कैंसर के लक्षण में से एक है

6) कूल्हे या पेट में दर्द – कूल्हे में या पेट के निचले भाग में दर्द होना सामान्य नहीं है । पेट में दर्द होना गर्भाशय का कैंसर या अपेंडिक्स के लक्षण है इसलिए इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए । ये cancer ke lakshan में से एक है

7) निप्पल में बदलाव – यदि आपके निप्पल के आकार में अचानक से बदलाव होता है तो यह ब्रेस्ट कैंसर के होने का लक्षण हो सकता है । इसमें निप्पल का सपाट होना, निप्पल का बगल की तरफ मुड़ जाना भी शामिल है, इसलिए इसे नजरअंदाज बिल्कुल ना करें और तुरंत डॉक्टर से मिलें क्योंकि ये कैंसर के लक्षण में से एक हो सकता है ।

8) पीरियड्स में अत्यधिक खून का बहना – यदि पीरियड्स में अत्यधिक मात्रा में खून बह रहा है या मीनोपॉज होने के बाद भी खून का स्राव हो रहा है तो यह वजाइनल कैंसर या गर्भाशय का कैंसर होने का लक्षण हो सकता है ।

9) मूत्र से रक्त निकलना – यदि आपके मूत्र के साथ रक्त का स्त्राव कभी-कभी होता है तो यह खतरे की घंटी हो सकती है, क्योंकि यह प्रॉस्टेट कैंसर का लक्षण है और आपको बिना देर किए अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए । ये कैंसर के लक्षण में से एक हो सकता है ।

10) गला बैठ जाना या खांसी ना हटना – यदि आपका गला लंबे समय से बैठा हुआ है और आपकी खांसी भी ठीक नहीं हो रही है या खाना निगलने में भी तकलीफ होती है तो यह थ्रोट कैंसर (गले का कैंसर) के होने का लक्षण हो सकता है । इसलिए आपको जल्द से जल्द अपने गले की जांच करवा लेनी चाहिए वरना आप हमेशा के लिए गूंगे भी हो सकते हैं ।

यह थे cancer symptoms in hindi ( cancer ke lakshan ), अब चलिए जानते हैं कि कैंसर के कारण क्या है ।

कैंसर के कारण

कैंसर के कारण – Causes of cancer in hindi

1) धूम्रपान – टीवी पर एड्स में चीख चीख कर यह बात बताई जाती है कि धूम्रपान करने से फेफड़े का कैंसर होता है ऐसी कई स्टडीज है जो इस बात को साबित करती है कि लंबे समय तक धूम्रपान करना फेफड़े के कैंसर का कारण बन सकता है ( Source ) । धूम्रपान कैंसर के कारणों में से एक है ।

2) गुटखा – आज के समय में युवाओं के बीच गुटका खाने का चलन बहुत तेजी से बढ़ रहा है । गुटके के पैकेट के पीछे साफ-साफ लिखा होता है कि गुटखा खाने से कैंसर को बढ़ावा मिलता है पर फिर भी लोग इसका सेवन कर रहे हैं । गुटखा मुंह के कैंसर का सबसे बड़ा कारक है, एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर घंटे में 5 लोगों की मौत मुंह के कैंसर के कारण हो जाती है।

3) तम्बाकू – एक स्टडी के अनुसार भारत में तंबाकू का सेवन सबसे ज्यादा किया जाता है जिसकी वजह से भी मुंह के कैंसर की समस्या भारत में सबसे ज्यादा होती है । तंबाकू इस प्रकार का नशीला पदार्थ है जो लोगों के बीच मुंह के कैंसर को बढ़ावा दे रही है । अगर आप भी इस चीज का सेवन करते हैं तो आपको भी कैंसर होने की संभावना है ( Source )गुटखा भी कैंसर के कारणों में से एक है ।

4) शराब – बहुत अधिक शराब के सेवन से भी कैंसर होने के कई केस आ चुके हैं । Studies के अनुसार जो लोग ज्यादा शराब का सेवन करते हैं और अपने खानपान पर विशेष ध्यान नहीं देते उन लोगों में श्वास नली, भोजन नली और तालुका कैंसर होने की संभावना सबसे अधिक होती है ।

ये भी पढ़ें – शराब छोड़ने के आयुर्वेदिक उपाय

5) दवाई – ज्यादा अंग्रेजी दवाइयों का सेवन कैंसर का कारण बन सकती है, कई ऐसे मामले सामने आए हैं जिसने रासायनिक दवाइयों के कारण पेट का कैंसर, लीवर का कैंसर अथवा मूत्राशय का कैंसर होने की बात कहीं गई है इसलिए बिना डॉक्टर के परामर्श के किसी भी दवाई का सेवन करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है ।

6) फास्ट फूड – NCBI की एक रिपोर्ट के अनुसार कैंसर के कारण कई लोग अपनी जान गवा देते है और कैंसर को बढ़ावा देने में फास्ट फूड का भी बहुत बड़ा हाथ होता है । जो लोग अधिक तैलीय और भुनी हुई चीजों का सेवन करते हैं और ज्यादा नमक का सेवन करते हैं उन लोगों में आंतों का कैंसर होने की संभावना सबसे ज्यादा बढ़ जाती है इसलिए भी आपको ज्यादा तली हुई चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए और नियंत्रित मात्रा में ही नमक का सेवन करना चाहिए ( Source )

7) कम उम्र में शादी – कई मामलों में यह बात सामने आई है कि महिलाओं में कम उम्र में शादी होने और छोटी उम्र में संबंध बनाने की वजह से बच्चेदानी के मुंह का कैंसर होने की संभावना सबसे ज्यादा बढ़ जाती है । एक स्टडी के अनुसार बच्चेदानी का कैंसर उन महिलाओं में सबसे ज्यादा देखा गया जिनकी शादी बहुत कम उम्र में हुई थी ।

8) रेड मीट का सेवन – एक स्टडी में यह बात सामने आई कि रेड मीट शरीर में कैंसर को बढ़ावा देती है । बॉलीवुड के कई बड़े-बड़े सितारों की मौत कैंसर की वजह से हुई और जब इस पर स्टडी की गई तो पाया गया कि वह बॉलीवुड स्टार सबसे ज्यादा रेड मीट का सेवन किया करते थे ताकि उनके चेहरे पर चमक रह सके पर यही रेड मीट उनके अंदर कैंसर का सबसे बड़ा कारण भी बनी । रेड मीट भी कैंसर कारक है ।

9) अनुवांशिकता – एक स्टडी के अनुसार कई बार ऐसा देखा गया है कि अगर किसी की family history कैंसर की रही है तो उनके आने वाले generation में भी कैंसर होने की संभावना होती है, ज्यादातर यह बीमारी तभी transfer होती है जब यह बीमारी किसी यौन कोशिका में हो जैसे कि प्रॉस्टेट कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर आदि ( Source )

कैंसर के कारण तो आप जान चुके है अब आइए जानते है कैंसर से बचने के उपाय ।

कैंसर से बचने के उपाय

कैंसर से बचने के उपाय

1) पहला उपाय – किसी भी प्रकार के गुटके या धूम्रपान का प्रयोग ना करें धूम्रपान से लंग कैंसर अथवा गुटके या तंबाकू से मुंह का कैंसर होता है ।

2) दूसरा उपाय – हरी मिर्च का सेवन करने से यह शरीर में मौजूद कैंसर सेल्स को पैदा होने से पहले काफ़ी हद तक रोकता है इसलिए आपको रोज अपने खाने में हरी मिर्च को जरूर शामिल करना चाहिए ।

ये भी पढ़ें – हरी मिर्च के फायदे, उपयोग और नुकसान

3) तीसरा उपाय – यदि आप कैंसर जैसी बड़ी बीमारी से बचना चाहते है तो आप शाकाहारी बन जाए । एक स्टडी में पाया गया कि जो लोग मांस का सेवन ज्यादा करते हैं उन लोगों में cancer ke lakshan ज्यादा देखे गए और इसलिए मांस मछली का सेवन करना बंद करें और शाकाहारी भोजन करना शुरू करें ( Source )

4) चौथा उपाय – एक research के अनुसार हल्दी में कर्कुमिन नाम का एक रसायन पाया जाता है जो कैंसर सेल्स को ख़त्म करने में मदद करता है | रात में 1 गिलास गाय के दूध में आधा चमच हल्दी मिलाकर रोज़ पीयें आपको कैंसर होने की सम्भावना बहुत कम हो जाएगी ( Source )

ये भी पढ़ें – हल्दी के फायदे, उपयोग और नुकसान

5) पांचवां उपाय – अपने डाइट में अश्वगंधा को शामिल करें, अश्वगंधा की सबसे खास बात यह है कि यह आपके शरीर में Reactive Oxygen species को पैदा करना शुरू कर देते हैं । Reactive Oxygen species आपके शरीर में कैंसर सेल्स को पैदा होने से पहले ही रोक देते हैं ।

ये भी पढ़ें – अश्वगंधा चूर्ण के फायदे, उपयोग और नुकसान

6) छठां उपाय – कम फैट वाला भोजन करें तथा सब्जी फलों और समूचे अनाजों का उपयोग अधिक करें साथ ही नियमित रूप से व्यायाम अवश्य करें ।

7) सातवां उपाय – अपने वजन को नियंत्रण में रखने की कोशिश करें क्योंकि जब वजन बढ़ता चला जाता है और शरीर में वसा जमा होती चली जाती है तो कैंसर होने का खतरा 22% तक बढ़ जाता है इसलिए आप कोशिश करें कि आप नियमित व्यायाम करें और स्वस्थ भोजन का ही सेवन करें ।

8) आठवां उपाय – अगर आप चाहते हैं कि आपको कैंसर ना हो तो आप हमेशा शुद्ध भोजन करने की कोशिश करें यानी कि वह भोजन जिसमें ज्यादा यूरिया और खाद डली हो उन भजनों से परहेज करें और ज्यादातर organic खेती से उपजाए गए भोजन का ही सेवन करें ।

9) नवां उपाय – पुरुष हमेशा अपने शरीर की जांच करते रहे कि उनके शरीर के किसी हिस्से में मांस का कोई टुकड़ा ( गाँठ ) तो नहीं जम रहा है किसी प्रकार की गिल्टी तो नहीं जम रही क्योंकि यह मांस का टुकड़ा कैंसर की शुरुआत हो सकती है और हर 6 महीने में किसी अच्छे डॉक्टर से अपने पूरे शरीर की जांच करवाते रहें

10) दसवां उपाय – महिलाओं को अगर माहवारी के दौरान जरूरत से ज्यादा रक्त स्त्राव हो रहा है तो महिलाओं को एक बार डॉक्टर से मिलकर अपने शरीर की जांच अवश्य करवानी चाहिए और अपने स्तनों को छूकर हमेशा चेक करते रहना चाहिए कि कहीं गांठे तो नहीं बन रही है ।

11) ग्यारवाँ उपाय – एक स्टडी में पाया गया की रोज एक्सरसाइज और व्यायाम करने से आपके शरीर की बीमारियां दूर होती है । स्टडी के अनुसार जो व्यक्ति रोज व्यायाम नहीं करता उसे उतना ही नुकसान होता है जितना की रोज 10 सिगरेट पीने से हो सकता है इसलिए रोज व्यायाम अवश्य करें ( Source )

तो ये थे कैंसर से बचने के उपाय, अब हम आपको कैंसर का इलाज बताएंगे ।

cancer ka ilaj

कैंसर का इलाज – Cancer ka ilaj

Cancer ka ilaj पूरी तरह से अभी तक संभव नहीं हो सका है । हालांकि अगर कैंसर का पता पहले स्टेज या दूसरे स्टेज में चल जाए तो Chemotherapy के द्वारा इसका इलाज किया जा सकता है पर यह बहुत ही महंगा इलाज होता है पर अगर कैंसर तीसरे स्टेज या चौथे स्टेज में जा चुका है तो मरीज को बचा पाना मुश्किल होता है । इसलिए अगर आपको ऊपर बताए गए किसी भी प्रकार के कैंसर के लक्षण हैं तो आप तुरंत किसी अच्छे कैंसर स्पेशलिस्ट डॉक्टर से मिलें और कैंसर की पुष्टि हो जाए तो तुरंत बिना देर किए अपना इलाज शुरू करवाएं ।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आप ” कैंसर के लक्षण, कारण और उपाय “ अच्छे से जान चुके होंगे । अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल है तो comment box में अवश्य पूछे, हमारी टीम आपके सवालों का जवाब 24 घंटे के अंदर आपको दे देगी और अगर आप चाहते हैं कि हमारे अगले पोस्ट की notification भी आप तक पहुंचे तो हमारी website healthkenuskhe.com को तुरंत subscribe कर ले, आपका दिन शुभ हो धन्यवाद ।

Leave a Comment

close